Breaking News

आपके खाने पर, साइबर ठगों की गिद्ध दृष्टि, रहें होशियार

Getting your Trinity Audio player ready...

लखनऊ। अगर आप खाने के शौकीन है और घर बैठे किसी मशहूर होटल से खाना ऑर्डर करने की सोच रहे तो संभल कर करें। सोशल साइट्स पर गिद्ध की तरह नजरें गढ़ा कर लोगों को अपना शिकार बनाने की फिराक में साइबर ठग यहां घात लगाये बैठे हैं। यह साइबर ठग सोशल साइट्स पर खाने पर 50 प्रतिशत या उससे भी ज्यादा का ऑफर देकर लोगों को ठगी का शिकार बना रहे हैं। ऐसे कई शिकायतें भी पुलिस के पास आ रही हैं।
जानकारी के अनुसार किसी बड़े होटल या रेस्टोरंेट में महंगे खाने के नाम पर लोगों को ठगा जा रहा है। ऐसे कई मामले प्रकाश में आ रहे हैं। साइबर ठग घर बैठे खाना ऑर्डर करने वाले लोगों को अपना शिकार बना रहे है जो सस्ते खाने के चक्कर में सोशल साइट्स पर जाकर सर्च करते हैं। जैसे ही लोगों को कम कीमत पर किसी बड़े होटल या रेस्टोरंेट पर खाने का ऑर्डर देते हैं तो साइबर ठग उनसे दिये गये लिंक पर क्लिक करने को बोलते हैं, कुछ मामलों में तो साइबर ठग लिंक पर क्लिक करने के साथ ही उनसे 10 रूपये टिप देने के लिए एकाउंट से ट्रान्सफर करने के लिए बोलते हैं लोगों द्वारा झांसे में आकर जैसे ही ठगों की बात मानता है तो वहीं दूसरी ओर झट से उसके एकाउंट से पैसे निकल जाते हैं। ऑर्डर करने वाले को जब तक माजरा समझ में आता है तब तक बहुत देर हो चुकी होती है।

क्या कहते है साइबर थाने के इंस्पेक्टर अजीत कुमार यादव

गोमती नगर स्थित साइबर थाने के इंस्पेक्टर अजीत कुमार यादव बताते है कि इन दिनों फेसबुक पर फर्जी अकाउंट बनाकर जालसाज लोगों को लालच दे रहे हैं। ये गिरोह कुछ बड़े रेस्टोरेंट के खाने की थाली आधे दामों में देने के आफर पोस्ट कर रहे हैं। साइबर थाने इंस्पेक्टर अजीत कुमार यादव का कहना है कि अधिकतर वह लोग शिकार हो रहे हैं जो नौकरी या व्यवसाय के सिलसिले में आकर अकेले रह रहे हैं। कुछ लोग ज्यादा डिस्काउंट के चक्कर में भी साइबर ठगों के झांसे में आ जाते है। उन्होंने कहा कि लोग जरूरत पड़ने पर प्रतिष्ठित एप डाउनलोड करने की बाद ही कोई ऑर्डर करें। उन्होंने कहा कि ऐसे मामले जब तब प्रकाश में आ रहे हैं, इसलिए सतर्क रहने की जरूरत है। श्री यादव ने कहा कि समझदारी से ही इस प्रकार की ठगी से बचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि उप्र की साइबर सेल इस प्रकार के एकांउटस की जांच कर बंद करने की प्रयास में लगी है।

घटना-1
इंदिरानगर के एक व्यापारी ने नामचीन रेस्टोरेंट से खाना आर्डर करने के लिए संपर्क किया था। पीड़ित का कहना है कि फेसबुक के जरिए दस थाली के आर्डर पर जालसाज ने अच्छा डिस्काउंट देने की बात कही। लिंक पर जानकारी देते ही खाते से 1.50 लाख रुपये निकल गए। साइबर क्राइम सेल से मामले शिकायत की है। टीम दिए गए नंबर के आधार पर जांच कर रही है।

घटना-2
वहीं गोमती नगर विस्तार में रहने वाली एक युवती ने सोशल मीडिया पर दिए गए मोबाइल नंबर से संपर्क किया। साइबर ठगों ने आधे दाम पर थाली की डिलीवरी करने की बात कही। लिंक भेजकर ठगों ने दस रुपये भेजने को कहा। जैसे ही पीड़िता ने लिंक खोला, उनके खाते से 40 हजार रुपये निकल गए। इसके बाद युवती भौचक रह गयी। युवती का कहना है कि मोबाइल नंबर पर वापस संपर्क किया गया तो फोन नहीं उठा।

24 घंटे के अंदर ‘1930’ पर करें शिकायत

साइबर क्राइम होने पर वैसे शिकायत तो आप अपने नजदीकी थाने में जाकर भी कर सकते हैं, लेकिन सबसे ज्यादा जरूरी है कि जैसे ही आपके साथ साइबर क्राइम हो, सबसे पहले आप भारत सरकार के गृह मंत्रालय की तरफ से जारी नंबर 1930 पर फोन करें.यह नम्बर पूर्व में जारी हेल्पलाइन नम्बर 152660 की जगह रिप्लेस किया गया है। 1930 पर अगर आपने 24 घंटे के अंदर शिकायत की है तो आपकी रकम मिलने की पूरी संभावना है. उत्तर प्रदेश वालों के लिए एक और अच्छी जानकारी है कि, इसे 112-यूपी से भी कनेक्ट कर दिया गया है. 112-यूपी पर बात कर घटना के बारे में जानकारी मांगकर आगे का कदम उठाएं.

सुबह 9 से शाम 5 बजे तक करता है काम
साइबर क्राइम हेल्पलाइन नंबर ‘1930’ है. ये सोमवार से शुक्रवार यानी वर्किंग डे पर सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक ओपन रहता है. इस पर किसी भी नंबर से कॉल कर सकते हैं. इसके अलावा, आप घर बैठे भारत सरकार की वेबसाइट www.CyberCrime.Gov.in पर क्लिक करके ऑनलाइन एफआईआर दर्ज करा सकते हैं. इसमें लड़कियों के लिए खास ऑप्शन हैं कि चाहें तो वह अपनी पहचान छिपाकर भी शिकायत दर्ज करा सकती हैं.

ऐसे करें शिकायत
अब जैसा कि आप www.CyberCrime.Gov.in वेबसाइट के होम पेज पर देख रहे हैं कि Report Women/Child Related Crime और Report Other Cyber Crime का ऑप्शन है. इसलिए अगर साइबर क्राइम से पीड़ित कोई महिला या नाबालिग है तो Report Women/Child Related Crime के ऑप्शन को क्लिक करना होगा. इसे क्लिक करने के बाद Report का एक और ऑप्शन मिलेगा, जिसके बाद File A Complaint का बटन क्लिक करें और अपनी डिटेल लिख दें. इसके बाद I Accept का बटन दबाएं. हालांकि इस रिपोर्ट को दर्ज कराने के लिए आपको User Id की जरूरत होगी. इसलिए आप खुद ही पहले Login बना लें. ध्यान रहे जिस मोबाइल नंबर से आप लॉग इन बनाएंगे, उसी नंबर पर एक OTP भी आएगा. लॉग इन बनाने के बाद आप आसानी से अपना एरिया चुनकर शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

Check Also

रैली निकालकर दिया मतदाता जागरूकता का संदेश

Getting your Trinity Audio player ready... लखनऊ/उन्नाव,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)ः केंद्रीय संचार ब्यूरो, सूचना एवं प्रसारण …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *