Breaking News

नाखूनों में नशीला पाउडर भरकर ई-रिक्शा चालकों को बनाते थे शिकार

लखनऊ। रेलवे स्टेशनों के बाद, जहरखुरानी के सदस्य अब राजधानी की सड़कों पर सवारियां ढो रहे ई-रिक्शा चालकों को अपना शिकार बना रहे है। यह बदमाश बुकिंग के नाम पर ई-रिक्शा बुक करते हैं, रास्ते में गिरोह के लोग अपने नाखूनों में नशीला पाउडर भर कर ड्राइवर को नशीली चाय पिलाकर, बेसुध कर देते थे और फिर बादमें उनसे लूटपाट कर ई-रिक्शा छीन कर फरार हो जाते थे। दुबग्गा पुलिस ने ऐसी घटनाओं को अंजाम देने वाले गिरोह के बदमाशों को दबोचा है, पुलिस ने गिरप्तार किये बदमाशों की निशानदेही पर 11 ई-रिक्शा और पांच ई-रिक्शा के कटे हुए पार्ट्स, एक बाइक और रुपये बरामद की हैं।

ऐसे देते थे वारदात को अंजाम

ई-रिक्शा बुक कराते और रास्ते में चालक से दोस्ती गांठकर उसे चाय अथवा जूस पिलाते थे। मौका पाते ही जूस और चाय में बड़ी होशियारी से नशीले पाउडर से भरे हुए नाखून डुबो देते थे। जिसके बाद चाय अथवा जूस पीने के कुछ देर बाद ड्राइवर बेसुध हो जाता था। इसके बाद ई-रिक्शा, मोबाइल और नकदी लूट ले जाते थे।

गिरोह का सरगना राजू भी चढ़ा पुलिस के हत्थे

डीसीपी दक्षिणी राहुल राज ने बताया कि गिरफ्तार आरोपितों में हरदोई अतरौली के भरावन पिपरगांव का रहने वाला राजू राजपूत, ठाकुरगंज साईन नगर का मो. आरिफ और सरफराजगंज का साजिद अली है। उन्होंने बताया कि गिरोह का सरगना राजू है। वह नशीली गोलियां लेकर पीसता था। इसके बाद पाउडर को अपने और साथी साजिद के हाथों के नाखून में भर लेता था। दोनों सूनसान रास्ते पर जैसे दुबग्गा से आइआइएम रोड, हरदोई रोड और मोहान रोड पर खड़े होकर बुकिंग के नाम पर ई-रिक्शा बुक करते थे। रास्ते में चालक से दोस्ती गांठकर किसी दुकान पर रोकते चाय या जूस का आर्डर करते थे और फिर चालक को चाय या जूस पिलाने से पहले अपने नाखुनों में भरा हुआ नशीला पाउडर उस जूस या चाय में डूबाकर उसमें मिला देते थे। नशीली चाय और जूस पीने के कुछ देर बाद चालक सुध-बुध खो लगता था। जिसके बाद ई-रिक्शा लूटकर फरार हो जाते थे।

निशानदेही पर पुलिस ने बरामद किये दर्जनों ई-रिक्शे

इंस्पेक्टर दुबग्गा ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर राजू और साजिद को जागर्स पार्क के पास से गिरप्तार किया गया है। दोनों से पूछताछ में बहुत से जानकारी का खुलासा किया। गिरप्तार बदमाशों ने पुलिस को बताया कि दोनों ने दो माह पहले जागर्स पार्क के पास एक ईरिक्शा बुक कराया था। उसके साथ ऐसे ही जहरखुरानी की फिर मोबाइल और ई-रिक्शा लूट लिया। सर्विलांस की मदद से दोनों की लोकेशन ट्रेस हुई थी। पुलिस ने बताया कि लूटा गया मोबाइल भी बरामद कर लिया है। जबकि ई-रिक्शा बेचकर उसके रुपये बांट लिए थे। दोनों ने बाकी के 10 ई-रिक्शे आरिफ के घर पर छुपा रखे थे। पुलिस नेे छापेमारी में वहां से 10 ई-रिक्शा और पांच के पार्ट्स बरामद किए हैं।

Check Also

कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा में शामिल होगें अखिलेश यादव

लखनऊ,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)ः भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की तरफ से कल कांग्रेस और सपा के गठबंधन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *