Breaking News

प्रमुख सचिव अमृत अभिजात की इस पहल से उप्र की महिलाएं बनेगीं सशक्त व आत्मनिर्भर

Getting your Trinity Audio player ready...

लखनऊ,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)ः शहरी गरीब महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में सूडा द्वारा एक सकारात्मक पहल शुरू की गयी है। राज्य नगरीय विकास अभिकरण सूडा के द्वारा संचालित दीन दयाल राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत संचालित होने वाली शक्ति रसोई योजना का शुभारंभ किया गया। इस महत्वकांक्षी योजना का उद्घाटन बीते दिनों प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया। योजना के तहत प्रदेश के 15 जनपदों की 25 शक्ति रसोई का शुभारम्भ किया गया है। इस अवसर पर नगर विकास विभाग के प्रमुख सचिव अमृत अभिजात व निदेशक सूडा अनिल कुमार पाठक सहित तमाम वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
राज्य नगरीय विकास अभिकरण सूडा के द्वारा संचालित दीन दयाल राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत संचालित होने वाली शक्ति रसोई योजना का शुभारंभ लखनऊ सहित अन्य कई जिलों में शुरू किया गया। महिला सशक्तिकरण व आर्थिक उन्नय के लिए डे-एनयूएलएम के अंतर्गत स्वयं सहायता समूहों को संगठित कर महिलाओं के लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जा रहे हैं। इसी क्रम में स्वयं सहायता समूह की सदस्यों को शक्ति रसोई संचालन की जिम्मेदारी सौंपी गई है। अब शक्ति रसोई का संचालन करने वाली स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के हाथों से तैयार शुद्ध भोजन का जायका रसोई में बैठकर ले सकते हैं। शक्ति रसोई में कुल्हड़ वाली चाय से लेकर, शक्ति रसोई में पूरी भोजन की थाली काफी रियायती दरों पर मिलेगी। जिसमें चपाती, दो सब्जी, राइस, सलाद व अचार भी होगा। इसके साथ ही इस रसोई में रेडीमेड जूस भी मिलेगा। वहीं खान पान की बारीकियों सहित बाजार के तौर तरीकों के लिए बकायदा इन समूहों की महिलाओं को ट्रेनिंग भी दी जा रही है। इन सदस्यों का देश व प्रदेश के प्रतिष्ठित होटलों के विशेषज्ञों द्वारा प्रशिक्षण दिया गया है। जिसके जरिए शक्ति रसोई के कुशल संचालन में इन महिला सदस्यों को सहायता मिलेगी। शक्ति रसोई के माध्यम से एक ओर जहां महिलाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे तो वहीं दूसरी ओर इस कैंटीन के माध्यम से लोगों किफायती दरों पर पौष्टिक भोजन भी मिलेगा। शक्ति रसोई के जरिये प्रदेश की महिलाओं की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ करने व उनको रोजगार के नए अवसर उपलब्ध कराने के लिए विभाग की ओर दीन दयाल अन्त्योदय योजना- राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के अंतर्गत शक्ति रसोई योजना का संचालन किया जा रहा है। शक्ति रसोई के संचालन के लिए नियमानुसार चयनित स्वयं सहायता समूह की महिला सदस्यों को जिम्मेदारी दी गई है। वहीं इस अवसर पर निदेशक सूडा डा. अनिल कुमार ने बताया कि शक्ति रसोई का उद्देश्य किफायती कीमत पर शुद्ध व पौष्टिक भोजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के साथ ही महिलाओं की आर्थिक स्थिति को और भी बेहतर बनाना है। ज्ञात हो कि सूडा द्वारा शहरी गरीबों के उत्थान के लिए कई योजनाओं का संचालन किया जा रहा है, जिसमें स्वयं सहायता समूह योजना का लाभ लेकर प्रदेश की हजारों महिलाओं ने आत्मनिर्भरता की ओर कदम बढ़ा कर अपनी गृहस्थी की गाड़ी को सरपठ दौड़ा रही है। आपको बता दे कि प्रदेश के 15 जनपदों की 25 शक्ति रसोई का शुभारम्भ किया गया है। उल्लेखनीय है कि शक्ति रसोई के संचालन के लिए समूहों के पारदर्शी चयन के साथ ही इनको विभिन्न तरह के प्रशिक्षण यथाय पाक- कला, लेखाजोखा, खाद्य सामग्री एवं उपकरण रखरखाव आदि, दिए गए हैं ।

Check Also

शिक्षा और उद्योग के बीच की खाई को पाटने का काम करता है रोजगार मेला- प्रोफेसर विनीता काचर

Getting your Trinity Audio player ready... लखनऊ,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)। प्रबंधन विज्ञान संस्थान और लखनऊ विश्वविद्यालय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *