Breaking News

सोशल मीडिया पर उठा तूफान तो हटाए गए पद से दबंग साहब

Getting your Trinity Audio player ready...

नई दिल्ली। द्वारका के डीसीपी शंकर चौधरी को पब में एक महिला से बदसलूकी करना भारी पड़ गया है. डीसीपी के खिलाफ महिला की शिकायत के बाद सोशल मीडिया पर उठे तूफान को देखते हुए उन्हें पद से हटा दिया गया है. इसके साथ ही विभाग ने उन्हें तुरंत पुलिस हेडक्वार्टर में रिपोर्ट करने को कहा गया है. दरअसल, साउथ दिल्ली के ग्रेटर कैलाश थाना इलाके के एक क्लब में शुक्रवार देर रात एक पार्टी चल रही थी. उस पार्टी में उस वक्त हंगामा हो गया, जब पार्टी में आई एक महिला और उनके पति ने यह कहते हुए पहले पीसीआर कॉल कर दी कि महिला के सिर में द्वारका जिले के डीसीपी शंकर चौधरी ने ग्लास मार दिया है, जिससे वह घायल हो गईं है. हालांकि, बाद में जब मामले ने तूल पकड़ लिया तो महिला ने एक वीडियो जारी कर सफाई दी कि यह सब गलतफहमी की बिना पर हुआ था. हालांकि, तब तक मामले ने सोशल मीडिया पर तूल पकड़ लिया था.
डीसीपी चौधरी पर कथित आरोप है कि उन्होंने एक महिला को पार्टी के दौरान ग्लास से मार दिया. इससे आहत महिला और उसके पति ने पीसीआर पर कॉल कर दी. इस बीच किसी इस वाकिये को किसी ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दी. लिहाजा, सुबह होते-होते सोशल मीडिया पर घटना ने तूल पकडऩा शुरू कर दिया. इसके कुछ देर बाद दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता की ओर से बयान जारी कर घटना की जानकारी दी गई. इसके बाद दोपहर बाद शंकर चौधरी को द्वारका जिले के डीसीपी के पद से हटा दिया गया.
4 जून के तडक़े 3:05 बजे पीसीआर को एक कॉल आई. इसमें कॉल कर्ता ने बताया कि कैलाश कॉलोनी के एक कैफे में डीसीपी शंकर चौधरी ने ड्रिंक करने के बाद मेरी वाइफ के सिर पर गिलास मार दिया है. कॉलर ने बताया कि डीसीपी किसी और से झगड़ा कर रहे थे. इस बीच मेरी पत्नी को चोट लग गई. इसके साथ ही पुलिस को बताया गया कि घायल महिला को उसके पति साकेत स्थित मैक्स हॉस्पिटल लेकर गए हैं.
मामले ने जब सोशल मीडिया पर तूल पकड़ लिया तो शनिवार दोपहर बाद दिल्ली पुलिस के हेड क्वार्टर से एक आदेश जारी कर विवादों में आए अफसर शंकर चौधरी को द्वारका जिले के डीसीपी पद से हटा दिया गया. इसके साथ ही उन्हें तत्काल प्रभाव से हेडक्वार्टर रिपोर्ट करने के आदेश पकड़ा दिया गया. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जीके थाना इलाके के एक क्लब में शुक्रवार रात पार्टी चल रही थी. इसमें द्वारका जिले के डीसीपी शंकर चौधरी भी शामिल हुए थे. यहां पर यह सारा विवाद हुआ. इस फैमिली पार्टी बताया जा रहा है. गौरतलब है कि पीडि़त महिला भी अपने पति के साथ इस पार्टी में शरीक होने आई थीं.

Check Also

रैली निकालकर दिया मतदाता जागरूकता का संदेश

Getting your Trinity Audio player ready... लखनऊ/उन्नाव,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)ः केंद्रीय संचार ब्यूरो, सूचना एवं प्रसारण …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *