Breaking News

बिहार में अग्निपथ के विरोध में तीसरे दिन भी हिंसक प्रदर्शन जारी

Getting your Trinity Audio player ready...

नई दिल्ली। केंद्र की अग्निपथ योजना के खिलाफ बिहार में तीसरे दिन प्रदर्शन उग्र हो गया है। राजधानी पटना समेत 25 जिलों में जमकर बवाल हो रहा है। पटना के दानापुर स्टेशन पर ट्रेन और पार्सल रूम में आग लगा दी। स्टेशन के बाहर खड़ी गाडिय़ों को फूंक दिया। पुलिस पर पथराव किया गया।
बेतिया में प्रदर्शनकारियों ने डिप्टी सीएम रेणु देवी, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष संजय जायसवाल के घर पर हमला किया। यहां पर भाजपा विधायक विनय बिहारी की गाड़ी पर पथराव किया गया। आइसा-इनौस, रोजगार संघर्ष संयुक्त मोर्चा और सेना भर्ती जवान मोर्चा ने 18 जून को बिहार बंद का आह्वान किया है।
सुबह से अब तक 8 ट्रेनों को निशाना बनाया गया है। समस्तीपुर में 2, लखीसराय में 2, दानापुर, फतुहा, आरा और सुपौल में एक-एक यात्री ट्रेन में प्रदर्शनकारियों ने आग लगा दी। वहीं, बक्सर और नालंदा समेत कई जिलों में रेलवे ट्रैक पर आगजनी की गई है। आरा के बिहिया रेलवे स्टेशन पर उपद्रवियों ने स्टेशन पर लूटपाट की है। टिकट काउंटर से लगभग 3 लाख रुपए लूट लिए हैं।
सासाराम में टोल प्लाजा में घुसकर प्रदर्शनकारियों ने तोडफ़ोड़ की। टोल प्लाजा में आगजनी भी की गई है। प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी है। कई राउंड फायरिंग की खबर है। आरा में सडक़ पर आगजनी के बाद जाम लगाया गया है।
बेतिया में यात्रियों को ट्रेन से उताकर मारपीट की गई। पुलिस पर भी पथराव हुआ है। डिप्टी सीएम रेणु देवी के सरकारी आवास पर भी हमला किया गया है। बेतिया के लौवरिया से बीजेपी विधायक विनय बिहारी पर भी हमला हुआ है।
वैशाली के हाजीपुर रेलवे स्टेशन पर उग्र छात्रों ने तोडफ़ोड़ की है। समस्तीपुर में प्रदर्शनकारियों ने जम्मूतवी-गुवाहाटी एक्सप्रेस, बिहार संपर्क क्रांति में आग लगा दी। हाजीपुर-बरौनी रेलखंड के मोहिउद्दीननगर स्टेशन पर भी आगजनी की गई है। प्रदर्शनकारी सुबह 6 बजे से ही ट्रैक पर डटे हुए हैं। रेलवे ने जहां-तहां ट्रेनों को रोक दिया है। कई ट्रेनें रद्द भी कर दी गई हैं।
खगडिय़ा में भी फिर से प्रदर्शन शुरू हो गया है। मानसी जंक्शन पर प्रदर्शनकारियों की भीड़ जुटने लगी है। इधर, छपरा में छपरा-सीवान मुख्य मार्ग पर चैनवा टोल बोर्ड पर प्रदर्शकारियों ने जमकर हंगामा किया। टोल बूथ पर तोडफ़ोड़ के बाद रोड जाम कर दिया गया है। तीनों सेनाओं में भर्ती के लिए केंद्र सरकार की तरफ से बनाई गई

इन जिलों में उग्र प्रदर्शन

बक्सर, भोजपुर, मुंगेर, समस्तीपुर, लखीसराय, नालंदा, अरवल, जहानाबाद, पटना- बिहटा, बेगूसराय, वैशाली, औरंगाबाद, सुपौल, खगडय़िा, जमुई, रोहतास, नवादा, सीतामढ़ी, बेतिया, शेखपुरा, सीवान, बगहा और मधेपुरा में उग्र प्रदर्शन हो रहा है।

समस्तीपुर में प्रदर्शनकारियों ने 2 ट्रेनों में आग लगा दी। इसमें जम्मूतवी-गुवाहाटी एक्सप्रेस की दो बोगियां खाक हो गई। इधर, दिल्ली से लौट रही बिहार संपर्क क्रांति एक्सप्रेस में भी आगजनी हुई है। समस्तीपुर में प्रदर्शनकारियों ने जम्मूतवी-गुवाहाट ट्रेन में आग लगा दी, दो बोगियां खाक हो गईं। उपद्रवियों ने बगहा में बीजेपी कार्यालय को निशाना बनाया है। बगहा 2 प्रखण्ड के कैलाशनगर नारायणपुर में बीजेपी कार्यालय में तोडफ़ोड़ की गई। प्रदर्शनतकारियों ने पहले रेल ट्रैक और फिर हाईवे पर आगजनी के बाद बीजेपी दफ्तर पहुंचे। वहां तोडफ़ोड़ की।
आरा में प्रदर्शनकारियों ने पैसेंजर ट्रेन को आग के हवाले कर दिया। इस दौरान स्टेशन पर जमकर तोडफ़ोड़ भी की गई। केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी हुई। नवादा में हिसुआ के विश्व शांति चौक आक्रोशित छात्रों ने सडक़ पर आगजनी कर जमकर बवाल किया। उग्र छात्रों ने तिलैया जंक्शन में भी आगदजली की है। नालंदा में भी प्रदर्शकारियों ने रेलवे ट्रैक पर आग लगा दी। राजगीर-बख्तियारपुर रेलखंड के पावापुरी फाटक पर सेना भर्ती के अभ्यर्थियों ने ट्रैक को जाम किया। हाईवे पर जाम लगा दिया। इसके चलते दोनों और वाहनों की लंबी लाइन लग गई है। नालंदा में रेलवे क्रॉसिंग पर आगजनी करते प्रदर्शनकारीयों ने जाम लगा दिया।
आरा के बिहिंया में आज फिर से हंगामा शुरू हो गया है। प्रदर्शनकारियों ने वहां भी तोडफ़ोड़ है। वहीं मुंगेर में कृष्ण सेतु पुल पर भी दर्जनों युवा जमा हो गए हैं। सडक़ को जाम कर नारेबाजी कर रहे हैं। मुंगेर से खगडिय़ा बेगूसराय, भागलपुर और पटना जाने वाली सडक़ पर आवागमन बाधित है। मुंगेर में कृष्ण सेतु पुल पर भी कई युवा जमा हो गए हैं। बेगूसराय के लखमीनिया स्टेशन पर अभ्यर्थी रेलवे ट्रैक पर टायर जलाकर की आगजनी कर रहे हैं। और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी जारी है। लखमीनिया स्टेशन पर प्रदर्शनकारी रेलवे ट्रैक पर आगजनी कर नारेबाजी कर रहे हैं।
पटना के बिहटा जंक्शन पर प्रदर्शनकारियों ने झंडा लेकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। औरंगाबाद में जसोईया मोड़ पर प्रदर्शनकारियों ने सडक़ जाम कर दी। जिसके चलते 5 किलोमीटर लंबा जाम लग गया है। सुपौल में भी प्रदर्शनकारियों ने पैसेंजर ट्रेन को फूंक दिया। ये ट्रेन सहरसा से सरायगढ़ जा रही थी। नवादा जिले के नारदीगंज बाजार में प्रदर्शनकारियों ने राजगीर-बोधगया पर नारदीगंज में छात्रों ने किया जाम। प्रदर्शनकारियों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।
नवादा में उग्र प्रदर्शन के दौरान सीओ के वाहन पर पथराव किया गया। साथ ही थाने की जिप्सी को आग के हवाले कर दिया। 2-3 बसों में भी तोडफ़ोड़ की गई। पुलिस उपद्रवियों को हटाने की कोशिश कर रही है। दहशत में इलाके की सभी दुकानें बंद हो गई है। आक्रोशित युवाओं का कहना है कि महज 4 साल के लिए भर्ती किया जाना रोजगार के अधिकार का हनन करना है। प्रदर्शनकारियों ने इस दौरान विधायक, सांसद पर भी तंज कसते हुए कहा कि क्या किसी विधायक, सांसद और मुख्यमंत्री का बेटे सेना में भर्ती है। सेना में केवल गरीब किसान का बेटा है। सरकार इन लोगों के साथ नाइंसाफी कर रही है। इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे। केन्द्र की मोदी सरकार युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है।
गुरुवार को 17 जिलों में युवा सडक़ और ट्रैक पर उतर गए। प्रदर्शनकारियों ने छपरा, कैमूर और गोपालगंज में 5 ट्रेनों को आग के हवाले कर दिया। 12 ट्रेनों में तोडफ़ोड़ की गई। अकेले छपरा में ही 3 ट्रेनों में आग लगा दी। यात्रियों ने भागकर अपनी जान बचाई। छपरा में सबसे ज्यादा प्रदर्शन का असर रहा। आरा में पुलिस को उपद्रवियों पर काबू पाने के लिए आंसू गैस के गोले दागे। मोतिहारी में भी ट्रेन पर पथराव किया गया। प्रदर्शन के कारण रेल सेवा सुबह 6.25 के बाद ठप हो गई थी। करीब नौ घंटे तक ट्रेनें ठप रहीं। तीन बजे के बाद सभी रूट क्लियर कराकर ट्रेनें शुरू की गईं।प्रदर्शन के दौरान बीजेपी के 2 विधायकों पर हमले भी किए गए हैं। छपरा सदर के बीजेपी विधायक डॉ. सीएन गुप्ता के घर पर प्रदर्शनकारियों ने हमला किया वहीं वारिसलीगंज की विधायक अरुणा देवी पर भी हमला हुआ। नवादा में प्रदर्शनकारियों ने बीजेपी ऑफिस में आग लगा दी। हाजीपुर में पुलिस पर पथराव किया गया। पुलिस जवानों ने भाग कर जान बचाई।
मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक प्रदर्शनकारियों का कहना है कि 2021 में सेना में नियुक्ति के लिए आवेदन मांगे गए थे। मुजफ्फरपुर समेत आठ जिलों के हजारों अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। उनमें से जिन्होंने फिजिकल टेस्ट पास किए उनका मेडिकल हुआ था। मेडिकल होने के बाद अब एक साल से लिखित परीक्षा का इंतजार कर रहे हैं। अब तक परीक्षा नहीं ली गई।
प्रदर्शनकारियों ने कहा, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को इसका ऐलान किया था कि अग्निपथ स्कीम के तहत अग्निवीरों की नियुक्ति होगी, जिन्हें 4 साल के लिए सेना में नौकरी दी जाएगी। 4 साल बाद 75 फीसदी जवानों को 11 लाख रुपए देकर घर वापस कर दिया जाएगा। सिर्फ 25 फीसदी की सेवा में कुछ विस्तार होगा। इसी नए नियम को लेकर हंगामा व प्रदर्शन कर रहे हैं।

Check Also

वृहद वृक्षारोपण अभियान के लिए विभागों ने कसी कमर

Getting your Trinity Audio player ready... लखनऊ,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)ः प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *