Breaking News

आठ राज्यों तक पहुंची अग्निपथ की आंच

नई दिल्ली। सेना में भर्ती के लिए बनाई गई अग्निपथ योजना में सरकार द्वारा एज लिमिट बढ़ाने के बाद भी प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा है। यूपी और बिहार में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेनें फूंक दीं। कई जगह रेलवे ट्रैक और सडक़ जाम किया गया। वहीं, यूपी के बलिया में सुबह पांच बजे से प्रदर्शन शुरू हो गया। यहां कई गाडिय़ों के शीशे तोड़े गए। पुलिस ने एक उपद्रवी को हिरासत में लिया है। फिरोजाबाद में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर 4 बसों में तोडफ़ोड़ करके जाम लगाया गया। हरियाणा के नारनौल में भी युवाओं ने जाम लगा दिया है। तेलंगाना के सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन में भी आगजनी हुई है। यहां हुए हिंसक प्रदर्शन में एक की मौत हो गई। राजस्थान के भरतपुर जंक्शन रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शनकारियों ने पुलिस कर्मी को लहूलुहान कर दिया। आंदोलन के कारण 200 ट्रेनें प्रभावित हुई हैं। पूरे देश में 35 ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं, जबकि 13 को कुछ समय के लिए रद्द किया गया है। यूपी के बलिया में प्रदर्शनकारियों ने जमकर हंगामा किय।
बिहार में 25 जिलों में जमकर बवाल हो रहा है। समस्तीपुर में 2, लखीसराय में 2, आरा और सुपौल में एक-एक यात्री ट्रेन में प्रदर्शनकारियों ने आग लगा दी। वहीं, बक्सर और नालंदा समेत कई जिलों में रेलवे ट्रैक पर आगजनी की गई है। आरा में सडक़ पर आगजनी के बाद जाम लगाया गया है। बेतिया में डिप्टी सीएम रेणु देवी के सरकारी आवास पर पथराव किया गया है।वैशाली के हाजीपुर रेलवे स्टेशन पर उग्र छात्रों ने तोडफ़ोड़ की है। समस्तीपुर में प्रदर्शनकारियों ने जम्मूतवी-गुवाहाटी एक्सप्रेस, बिहार संपर्क क्रांति में आग लगा दी। हाजीपुर-बरौनी रेलखंड के मोहिउद्दीननगर स्टेशन पर भी आगजनी की गई है। प्रदर्शनकारी सुबह 6 बजे से ही ट्रैक पर डटे हुए हैं। रेलवे ने जहां-तहां ट्रेनों को रोक दिया है। कई ट्रेनें रद्द भी कर दी गई हैं।
बलिया में अग्निपथ योजना के विरोध में सुबह पांच बजे से विरोध-प्रदर्शन शुरू हो गया। बलिया वॉशिंगपिट में खड़ी ट्रेन में युवाओं ने आग लगा दी। सैकड़ों युवाओं ने पहले रेलवे स्टेशन पर जमकर हंगामा किया, फिर कई गाडिय़ों के शीशे तोड़े। पुलिस ने एक उपद्रवी को हिरासत में लिया है। गुरुवार को 11 जिलों में उग्र प्रदर्शन हुए। आगरा, अलीगढ़ में युवाओं ने बसों में तोडफ़ोड़ की। बुलंदशहर में युवाओं ने नारेबाजी की। हालात इतने बेकाबू हुए कि पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। मेरठ, देवरिया, सीतापुर के साथ ही उन्नाव के शुक्लागंज में युवाओं ने विरोध किया।
फिरोजाबाद में अग्निपथ को लेकर उपद्रवी युवा सुबह सात बजे से ही सडक़ों पर उतर आए। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर 4 बसों में तोडफ़ोड़ करने के साथ ही जाम लगा दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने उपद्रव मचाने वालों को दौड़ाकर किसी तरह जाम खुलवाया। भरतपुर में अग्निपथ के विरोध में युवाओं ने उग्र आंदोलन किया। पहले तो युवाओं ने शहर में एक जगह इकठ्ठा होने की कोशिश, लेकिन पुलिस ने उन्हें खदेड़ दिया। इसके बाद युवा धीरे-धीरे रेलवे पटरियों पर जमा होने लगे। रेलवे ट्रैक जाम हो गया। काफी संख्या में युवा पटरियों पर बैठ गए। केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। जैसे ही पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार करने की कोशिश की तो युवाओं ने पुलिस पर पथराव कर दिया। कई पुलिसकर्मियों के पत्थर लगे। एक पुलिसकर्मी का सिर फट गया। बाद में पुलिस ने युवाओं को खदेडऩे के लिए आंसू गैस के गोले छोडे।
इंदौर रेलवे स्टेशन पर युवाओं ने हंगामा कर दिया। वे सेना में भर्ती की अग्निपथ योजना का विरोध कर रहे हैं।केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना का विरोध इंदौर में भी हो रहा है। यहां रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार सुबह 7 बजे सेना भर्ती में पहुंचे युवाओं ने हंगामा कर दिया। सूचना के बाद यहां ड्यूटी पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने हल्का बल प्रयोग किया। यहां मौके पर आसपास के थानों का बल भी लगाया गया है। इसके बाद छात्र इक_ा होकर लक्ष्मीबाई नगर स्टेशन पर पहुंच गए। यहां छात्रों ने जाम लगा दिया, जहां पुलिस के वाहन रवाना किए।
छात्रों ने पुणे से इंदौर आने वाली ट्रेन भी रोक दी। इंदौर से उज्जैन जाने वाली मेमू सहित दो ट्रेन को निरस्त किया गया है। युवक सुबह पहुंचे तो पुलिस ने आगे जाने से रोका था। इस दौरान वह हंगामा मचाने लगे। कुछ देर बाद यहां भारी फोर्स तैनात किया गया।
हरियाणा में शुक्रवार सुबह फिर अग्निपथ योजना का विरोध शुरू हो गया है। शुक्रवार सुबह नारनौल शहर में बस स्टैंड पर युवाओं ने उग्र प्रदर्शन किया और विरोधी नारेबाजी की। पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए लाठीचार्ज किया। महावीर चौक और बस स्टैंड से प्रदर्शनकारियों को हटा दिया गया है। पुलिस ने 20 से ज्यादा प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया है। पुलिस के आला अफसर मौके पर पहुंच चुके है।
जींद के नरवाना में युवाओं ने दिल्ली-फिरोजपुर रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया है। जींद में प्रदर्शन हो रहा हे, वहीं फतेहाबाद के रतिया में भी संजय चौक पर युवा प्रदर्शन कर रहे हैं। अग्निपथ योजना के खिलाफ हरियाणा के पलवल में उत्पात मचाने वाले युवकों पर पुलिस ने कार्रवाई की है। कैंप व शहर थाना पुलिस ने 142 नामजद सहित सैकड़ों युवकों के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज कर धरपकड़ शुरू कर दी है। बीते कल युवकों ने नेशनल हाईवे को जाम करके पुलिस बल पर देसी कट्टा से फायर और लाठी-डंडों व सरियों से हमला कर पथराव किया था। जिसमें कई पुलिस जवान घायल हुए। झारखंड के पलामू जिले में केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना का युवाओं ने जमकर विरोध कियाद्य शुक्रवार को डाल्टनगंज रेलवे स्टेशन पर लगभग 45 मिनट तक हंगामा होता रहा। युवाओं ने रेलवे ट्रैक पर ही पुशअप्स किए हाथ में तिरंगा लेकर पटरी पर बैठे युवाओं ने अग्निपथ स्कीम वापस लेने की मांग की अग्निपथ योजना की आंच उत्तर भारत से होते हुए दक्षिण भारत तक पहुंच गई है। तेलंगाना के सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शनकारियों ने जमकर तोडफ़ोड़ की। युवाओं ने ट्रेन में आग लगा दी और उसकी खिड़कियां तोड़ दीं।
दिल्ली के एक मेट्रो स्टेशन पर आम आदमी पार्टी के छात्र संगठन छात्र-युवा संघर्ष समिति के नेतृत्व में विरोध-प्रदर्शन किया गया। छात्रों ने कहा- ये महात्मा गांधी के सिद्धांत मानने वालों का देश है। यहां सबको अपनी बात शांतिपूर्ण तरीके से रखने का हक है। अग्निपथ योजना युवाओं के खिलाफ है। लेकिन, इसके विरोध में हिंसक प्रदर्शन करना भी गलत है। प्रदर्शन के कारण मेट्रो स्टेशन के सभी गेट बंद कर दिए गए। पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे छात्रों को हिरासत में लिया है।
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने प्रदर्शनकारी छात्रों से बवाल न करने की अपील की है। उन्होंने कहा- दो साल से सेना में भर्ती का अवसर नहीं मिल पाया है। इससे भर्ती प्रक्रिया रुकी हुई है। यही सोचकर सरकार ने अभी अग्निवीरों की भर्ती के लिए उम्र सीमा दो साल बढ़ा दी गई है। युवाओं से अपील है कि वह विरोध न करें, भर्ती की तैयारी करें। थल सेनाध्यक्ष जनरल मनोज पांडे ने भी युवाओं से भारतीय सेना में शामिल होने के लिए अग्निवीर बनने की अपील की है।
केंद्र सरकार ने अग्निपथ योजना के तहत भर्ती के लिए अपर एज लिमिट 21 साल से बढ़ाकर 23 साल करने का ऐलान किया है। हालांकि, यह छूट केवल इसी साल के लिए लागू होगी। रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, पिछले दो साल में कोई भर्ती नहीं होने के कारण यह फैसला लिया गया है। इससे पहले अग्निवीर बनने के लिए पहले निर्धारित आयु सीमा 17.5 साल से 21 साल थी।
देश के कई राज्यों में अग्निपथ योजना को लेकर चल रहे विरोध के बीच गुरुवार को यह फैसला लिया गया। इनमें उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड और झारखंड सहित कई राज्यों शामिल हैं।
केंद्र सरकार ने 14 जून को सेना की तीनों शाखाओं- थलसेना, नौसेना और वायुसेना में युवाओं की भर्ती के लिए अग्निपथ भर्ती योजना शुरू करने का ऐलान किया। इस स्कीम के तहत नौजवानों को सिर्फ 4 साल के लिए डिफेंस फोर्स में सेवा देनी होगी। सरकार ने यह कदम तनख्वाह और पेंशन का बजट कम करने के लिए उठाया है।

1. ये अग्निपथ स्कीम है क्या?

अग्निपथ स्कीम आर्म्ड फोर्सेज के लिए एक देशव्यापी शॉर्ट-टर्म यूथ रिक्रूटमेंट स्कीम है। इस स्कीम के तहत भर्ती होने वाले युवाओं को अग्निवीर कहा जाएगा। अग्निवीरों की तैनाती रेगिस्तान, पहाड़, जमीन, समुद्र या हवा, समेत विभिन्न जगहों पर होगी।

2. अग्निवीरों की रैंक क्या होगी?

इस नई स्कीम में ऑफिसर रैंक के नीचे के सैनिकों की भर्ती होगी। यानी इनकी रैंक पर्सनेल बिलो ऑफिसर रैंक के तौर पर होगी। इन सैनिकों की रैंक सेना में अभी होने वाली कमीशंड ऑफिसर और नॉन-कमीशंड ऑफिसर की नियुक्ति से अलग होगी।

3. साल में कितनी बार भर्ती होंगे अग्निवीर?

इस योजना के तहत साल में दो बार रैली के जरिए भर्ती होगी।

4. इस साल कितने सैनिकों की होगी भर्ती?

इस साल 46 हजार अग्निवीरों की भर्ती होगी, लेकिन इस दौरान सेना के तीनों अंगों में इस स्तर की आर्मी भर्ती नहीं होगी।

5. अग्निवीर बनने के लिए कितनी उम्र का होना जरूरी?

अग्निवीर बनने के लिए 17.5 साल से 23 साल के बीच होना जरूरी है।

6. अग्निवीर बनने के लिए कितनी पढ़ाई जरूरी?

अग्निवीर बनने के लिए कम से कम 10वीं पास होना जरूरी है।

Check Also

दुग्ध संघों के सुदृढ़ीकरण के लिए 13.33 करोड़ रूपये जारी

लखनऊ,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)। उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश में डेयरी विकास के लिए दुग्ध संघों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *