Breaking News

रूमी दरवाजे की मरम्मत का काम शुरू

Getting your Trinity Audio player ready...

लखनऊ। रूमी गेट की मरम्मत और सौंदर्यीकरण की तैयारी शुरू हो गई है। इसके लिए रूमी गेट के नीचे ट्रैफिक को पूरी तरह बंद कर दिया जाएगा। यहां से जाने वाले ट्रैफिक को डायवर्ट किया जाएगा। रविवार को पीडब्ल्यूडी ने वैकल्पिक मार्ग बनाने का काम शुरू कर दिया है। इसके तहत गुलाब वाटिका की ओर रूमी गेट के बगल से एक खाली रास्ता बनाया जा रहा है। इस रास्ते से आने-जाने वाले वाहन इसी रास्ते से गुजरेंगे। यह व्यवस्था मंगलवार से शुरू हो जाएगी।


गुलाब वाटिका की ओर जाने वाले फुटपाथ को रैम्प बनाकर दुपहिया वाहनों के लिए उपयोग किया जाएगा। यहां से दोनों तरफ से आने-जाने वाले वाहन गुजरेंगे। वहीं, पार्क और गुलाब वाटिका के बीच का मार्ग, जो वर्तमान में पार्किंग के लिए उपयोग किया जाता है, वहां से हल्के वाहनों को हटाने के लिए तैयार है।
भारी वाहनों को टीले की मस्जिद के बगल वाले सेतु की ओर मोड़ दिया जाएगा। केजीएमयू की तरफ से आने वाले वाहन पक्के पुल से पहले टीला मस्जिद के बगल से जाएंगे। वहीं हुसैनाबाद की ओर से आने वाले वाहन कुडिय़ाघाट से चढक़र पुल की ओर जाएंगे।
रूमी गेट की मरम्मत के लिए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग को यहां से आने वाले ट्रैफिक को रोकने के लिए कहा गया था। इस पर स्मार्ट सिटी, जिला प्रशासन और पीडब्ल्यूडी ने मिलकर काम करना शुरू कर दिया है। डीएम सूर्यपाल गंगवार ने शनिवार को परियोजना का निरीक्षण किया था और अधिकारियों को काम में तेजी लाने के निर्देश दिए। इसके बाद रविवार को पीडब्ल्यूडी ने रूमी गेट के पास गुलाब वाटिका से रैंप बनाने का काम शुरू किया था।
रूमी गेट से आने वाले ट्रैफिक को किस तरफ से डायवर्ट किया जाए, ताकि अन्य रूटों पर इसका बुरा असर न पड़े, इसके लिए पीडब्ल्यूडी, जिला प्रशासन व स्मार्ट सिटी की देखरेख में सुझाए गए वैकल्पिक रूट पर ट्रैफिक डायवर्ट किया जाएगा। इसकी रिपोर्ट आने के बाद अन्य रूटों पर भी ट्रायल रन किया जाएगा। सबसे पहले गेट के बगल में रैम्प बनाया जा रहा है और उसका उपयोग किया जा रहा है।
टीला वाली मस्जिद के बगल में बांधा रोड के मोड़ पर जाम की समस्या आम है। सीतापुर रोड की ओर जाने वाला ट्रैफिक और बांधे की ओर जाने वाला भारी ट्रैफिक जाम का मुख्य कारण है। यहां से जब रूमी गेट की ओर जाने वाले भारी वाहन भी जाते हैं तो जाम की समस्या और बढ़ जाती है।
कोनेश्वर से रूमीगेट हजारगंज होते हुए कुछ ट्रैफिक केजीएमयू होते हुए चौक चौराहे से डालीगंज की ओर जा सकता है। लेकिन इस मार्ग पर ई-रिक्शा, ऑटो, टेम्पो और अतिक्रमण जाम का प्रमुख कारण है। ऐसे में अगर यह अतिक्रमण हट जाए तो कुछ राहत मिल सकती है।

Check Also

वृहद वृक्षारोपण अभियान के लिए विभागों ने कसी कमर

Getting your Trinity Audio player ready... लखनऊ,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)ः प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *