Breaking News

लखनऊ कमिश्नरेट पुलिस के हत्थे चढ़े लुटेरे और वाहन चोर

लखनऊ । राजधानी पुलिस के दो थाना क्षेत्रों में स्थानीय पुलिस ने एक वाहन चोर समेत दो लुटेरों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। गिरफ्त में आरोपी शातिर किस्म के अपराधी बताए जा रहे हैं जिनका लंबा आपराधिक इतिहास है। ये अपराधी पिछले कुछ दिनों में राजधानी में कई वारदातों को अंजाम दे चुके थे, जिसके बाद पुलिस ने इन वारदातों का खुलासा करने के लिए अपना जाल बिछाया और आखिरकार ये शातिर पुलिस के जाल में फंस गए।
मिली जानकारी के मुताबिक उत्तरी जोन की अलीगंज पुलिस ने यूनिटी सिटी चौराहा कल्याणपुर गुडम्बा के रहने पर प्रवीण कुमार चौरसिया को गिरफ्तार करने सफलता हासिल की। गिरफ्त में आए इस अभियुक्त के पास से चोरी की 9 बाइक , 4 फर्जी आधार कार्ड 5 चाबियां पुलिस ने बरामद की हैं । इंस्पेक्टर अलीगंज ने बताया कि गिरफ्तार किया गया प्रवीण कुमार चौरसिया शातिर किस्म का वाहन चोर है। यह चोरी के वाहनों को बकायदा ऑनलाइन बेचने का भी काम करता था। इसके लिए यह एक ऑन लाइन प्लेटफार्म ओएलएक्स का इस्तेमाल करता था। इसके शातिर दिमाग का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि यह चोरी के वाहन को बेचने के लिए फर्जी कागजात तैयार करता था ताकि इससे गाडियां खरीदने वालों को शक न होने पाए कि यह गाडिय़ां चोरी की हैं। वहीं दूसरी ओर पुलिस के इस वर्कआउट पर एडीसीपी उत्तरी अभिजीत आर शंकर का कहना है कि गिरफ्तार किया गया प्रवीण चोरी किए गए वाहन के कागज पर मालिक का नाम देखकर उसी नाम का ऐप के माध्यम से आधार कार्ड बनाता था और उस आधार कार्ड पर अपना फोटो चस्पा कर दिया करता था ताकि वाहन खरीदने वाले ग्राहक को इस पर शक न हो और वो इस चोर को वाहन का असली मालिक समझकर वाहन खरीद ले। उ

न्होंने बताया कि गिरफ्तार किए गए वाहन चोर प्रवीण कुमार चौरसिया के आपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है फिलहाल उसके खिलाफ पहले से ही 11 मुकदमे दर्ज होने की जानकारी मिल चुकी है। एडीसीपी उत्तरी अभिजीत आर शंकर बताया कि प्रवीण कुमार से हुई पूछताछ के आधार पर चोरी की और गाडिय़ां बरामद होने की उम्मीद है । प्रवीण कुमार चौरसिया शातिर किस्म का चोर है और इसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर बंधा रोड के पास जाल बिछाया था । पुलिस मुखबिर की सूचना के बाद इसके आने का इंतजार कर रही थी, प्रवीण कुमार जब बाइक से आया तो पुलिस ने उसे घेर लिया लेकिन भागने के चक्कर में प्रवीण फिसल कर गिर गया और पुलिस ने उसे दबोच लिया।
वहीं दूसरी ओर हसनगंज पुलिस ने दो लुटेरों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। ये लुटेरे पिछले कुछ दिनों में राजधानी में लूट की कई वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। इंस्पेक्टर हसनगंज अतुल श्रीवास्तव की टीम ने बागशेरजंग वजीरगंज के रहने वाले सुफियान सिद्दीकी और नाला नंबर 5 महानगर के रहने वाले मोहम्मद आदिल को मुखबिर की सूचना के आधार पर डालीगंज रेलवे क्रॉसिंग के पास से दबोचा। पुलिस की गिरफ्त में आए लुटेरों के पास से पुलिस ने लूट की चार सोने की चेन, 7 हजार से ज्यादा की नकदी और लूट की वारदातों में इस्तेमाल की जाने वाली बाइक बरामद की है। गिरफ्तार किए गए सुफियान सिद्दीकी बहुत ही शातिर किस्म का अपराधी है। इसके खिलाफ 25 मुकदमे पहले से दर्ज बताए जा रहे हैं । हसनगंज पुलिस ने लुटेरों की गिरफ्तारी कर लूट की सात वारदातों का खुलासा किया गया है। बताया जा रहा है कि गिरफ्तार किए गए लुटेरों ने दो माह के अंदर लखनऊ में लूट की पांच वारदातों को अंजाम दिया था। डीसीपी उत्तरी कासिम आब्दी ने बताया कि गिरफ्तार किया गया सुफियान बहुत ही शातिर किस्म का लुटेरा है और ये लूटी गई चेन को बेचने के लिए सुनार के पास जाकर घर के किसी व्यक्ति की बीमारी की मजबूरी बताकर बेच देता था उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किए गए आदिल का चाचा जेल में है और इसके आपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है । उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किए गए लुटेरे बहुत ही शातिर किस्म के लुटेरे हैं और ये लोग अपनी मोटरसाइकिल पर लगी नंबर प्लेट बदलकर लूट की वारदातों को अंजाम देते थे ताकि मोटरसाइकिल के नंबर की मदद से इनको पकड़ा न जा सके ।

Check Also

डीपफेक केस में एफआईआर हुई दर्ज, रश्मिका मंदाना से जुड़ा है मामला

नई दिल्ली। साउथ एक्ट्रेस रश्मिका मंदाना के डीपफेक वीडियो मामले में दिल्ली पुलिस ने एक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *