Breaking News

सहकार से समृद्धि केवल सहकारिता आन्दोलन से ही संभव है-दिनेश प्रताप सिंह

Getting your Trinity Audio player ready...

लखनऊ। 69वें अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह के दूसरे दिन सहकारिता भवन के पी.सी.यू. सभागार में उ0 प्र0 को-ऑपरेटिव फैडरेशन लि0 और उ0प्र0 उपभोक्ता सहकारी संघ लि0 के संयुक्त तत्वाधान में सहकारी विपणन, उपभोक्ता, प्रसंस्करण और मूल्य संवर्धन विषय पर गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी का शुभांरभ प्रदेश के उद्यान, कृषि-विपणन, कृषि-विदेश व्यापार, कृषि निर्यात राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) दिनेश प्रताप सिंह ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया।
इस अवसर पर उद्यान मंत्री ने कहा कि सहकार से समृद्धि केवल सहकारिता आन्दोलन से ही संभव है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में सहकारिता गांव की पगड़डियों से होते हुए शिखर तक पहुंची है तथा इसको अभी और ऊंचाईयां मिलेगी, इसकी पहचान अंतर्देशीय स्तर तक होगी। उन्होने कहा कि सहकारिता मंत्री जे.पी.एस. राठौर निरन्तर सहकारिता में आवश्यक सुधार कर रहे है। उन्होने कहा कि केन्द्र एवं प्रदेश सरकार सहकारिता के महत्व को भली-भांति जानती है। उन्होने कहा कि सहकारिता हम सबके लिए जरूरी है। सहकारिता विभाग शहर से लेकर ट्राइबल एरिया तक अपनी सेवाये दे रहा है। श्री सिंह ने कहा कि जिस प्रकार बिना पानी के हमारा जीवन संभव नहीं है, उसी प्रकार आज सहकारिता के बिना भी हमारा जीवन संभव नहीं है। उन्होने कहा कि हमारे देश में लगभग 2.5 लाख करोड़ रूपये की यूरिया बाहर से आयात होती है। लेकिन अपने देश में नैनो यूरिया का उत्पादन प्रारम्भ होने से लगभग 25 प्रतिशत यूरिया बाहर से कम मंगानी पड़ेगी। इससे जो धनराशि बचेगी उसे देश के विकास में उपयोग किया जा सकेगा। देश को आगे बढ़ाने में सहकारिता का महत्वपूर्ण योगदान है तथा इससे प्रत्येक व्यक्ति लाभान्वित हो रहा है। सहकारिता विभाग कृषि क्षेत्र मे पूरी तरह से घुला मिला है। किसानों से लेकर व्यापारी, गरीब से लेकर अमीर सभी लोगों को सहकारिता विभाग लाभान्वित कर रहा है। इस अवसर पर उद्यान मंत्री ने पैक्स तथा नॉन पैक्स के लाभार्थियों को प्रशस्त्रि पत्र देकर सम्मानित किया गया। गोष्ठी में पी.सी.एफ. के सभापति बाल्मीकि त्रिपाठी द्वारा पी.सी.एफ. के कार्यों पर प्रकाश डाला गया तथा सहकारी सप्ताह के सफल आयोजन के लिए संस्थाओं के पदाधिकारियों एवं अधिकारियों की सराहना की गयी। उन्होनें कहा कि आज सहकारिता निरन्तर प्रगति पथ पर अग्रसर है। प्रमुख सचिव सहकारिता बी.एल.मीणा ने कहा कि 69वें अखिल भारतीय सप्ताह 2022 के अन्तर्गत 07 दिवसीय कार्यक्रम संचालित किये जा रहे है। इन कार्यक्रमों में विभिन्न विषयों पर चर्चा की जा रही है तथा विषय से सम्बन्धित विशेषज्ञों को भी आमंत्रित किया जा रहा है। उन्होने कहा कि आज सहकारी विपणन, उपभोक्ता, प्रसंस्करण और मूल्य संवर्धन पर चर्चा की गयी।

Check Also

वृहद वृक्षारोपण अभियान के लिए विभागों ने कसी कमर

Getting your Trinity Audio player ready... लखनऊ,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)ः प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *