Breaking News

अब राकेश टिकैत को सताने लगा यह डर

Getting your Trinity Audio player ready...

मेरठ। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने मेरठ के कंकरखेड़ा मे किसान पंचायत में किसानों व कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार मेरी हत्या कराना चाहती है. कर्नाटक में हुआ हमला सोची समझी साजिश थी. दिल्ली में विपिन रावत के घर पर भी हत्या कराने की प्लानिंग थी. जहां दिल्ली पुलिस ने दूसरे गेट से हमें निकाला था. टिकैत ने किसानों से कहा कि यह समय आपस में उलझने का नहीं है. सरकार तोडफ़ोड़ की राजनीति कर रही है. सरकार चाहती है की संगठन का विघटन किया जाए. आज कार्यकर्ता और किसान हमला करने की स्थिति में नहीं बल्कि बचाव की मुद्रा में है.

टिकैत परिवार हमेशा ही मजबूती से किसानों की आवाज उठाता रहा है. आगे भी आवाज उठाई जाएगी. बाबा महेंद्र सिंह टिकैत के बाद नरेश टिकैत किसानों की सेवा में आ गए. टिकैत परिवार पीछे नहीं हटेगा.टिकैत ने कहा कि प्रदेश सरकार ने चुनाव से पहले सिंचाई के लिए बिजली निशुल्क देने का वादा किया था, लेकिन अब नलकूपों पर मीटर लगाकर किसानों का उत्पीडऩ किया जा रहा है यह बर्दाश्त नहीं किया जायेगा. 10 साल से अधिक अवधि वाले ट्रैक्टरों को रोका जा रहा है. इसके लिए संगठन लड़ाई लड़ रहा है. यह ट्रैक्टर का रुख दिल्ली के बजाय लखनऊ का भी हो सकता है. किसानों से अपील करते हुए कहा कि संगठन को बढ़ाने के लिए अधिक से अधिक संख्या में सदस्य बनाएं. राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि पदाधिकारी संगठन को मजबूत बनाने के लिए संगठन का विस्तार करें.
उन्होंने कहा कि सरकार संगठन के लोगों को आपस में लड़ाकर संगठन को कमजोर करना चाहती है. अलग-अलग अध्यक्ष बनाकर राजनीति की जा रही है. यदि, आपस में उलझे रहे तो सरकार हत्या करा देगी. राकेश टिकैत ने कहा की सरकार के खिलाफ एकजुटता से ही ताकत बढ़ेगी और सरकार से लड़ा जाएगा. इसके लिए तैयार रहें. लड़ाई सरकार से जारी है और आगे भी जारी रहेगी. जब तक सरकार बैठ कर बात नहीं करेगी तब तक कोई समाधान नहीं हो सकेगा. मुख्यमंत्री भाजपा के नहीं हैं सभी पार्टी के हैं.

 

Check Also

रैली निकालकर दिया मतदाता जागरूकता का संदेश

Getting your Trinity Audio player ready... लखनऊ/उन्नाव,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)ः केंद्रीय संचार ब्यूरो, सूचना एवं प्रसारण …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *