Breaking News

अंधविश्वास! बड़े बेटे की जान बचाने के लिए बेटी की बलि

नई दिल्ली। राजस्थान के बारां जिले से एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है जहां एक मां ने अपनी 13 साल की बेटी को गला घोंटकर मौत के घाट उतार दिया. घटना के मुताबिक महिला पर आरोप है कि उसने तौलिए से अपनी बेटी की गला घोंटकर हत्या कर दी और इस दौरान मृतक बच्ची का 11 साल का भाई वहीं मौजूद था. बताया जा रहा है कि महिला ने उसे कमरे से बाहर निकालकर कमरे के कुंडी लगाकर वारदात को अंजाम दिया. जानकारी के मुताबिक घटना शनिवार सुबह की बताई जा रही है जहां महिला का पति शिवराज सिंह जो एक ऑटो ड्राइवर है वह किसी काम से घर से बाहर गया हुआ था.
वहीं महिला के दो बेटे और एक बेटी है जहां 13 साल की बेटी संजना और 11 साल का बेटा सिंघम स्कूल जाने के लिए तैयार हो रहे थे कि महिला ने संजना को पीटना शुरू कर दिया और उसके जोर-जोर से रोने के बाद कमरे में बंद कर अंदर से कुंडी लगा ली. इसके बाद बताया जा रहा है कि महिला ने कमरे के अंदर तौलिए से संजना का गला घोंट दिया.


घटना के बाद एएसआई राजेंद्र सिंह ने जानकारी दी कि शिव कॉलोनी में रहने वाली रेखा हाड़ा नामक की महिला ने अपनी 13 साल की बेटी घर में साफी से गला घोंटकर निर्मम हत्या कर दी. वहीं इस दौरान महिला ने अपने बेटे को कमरे से बाहर निकाल दिया.
बताया जा रहा है कि संजना 5वीं क्लास में पढ़ती थी और पड़ोसियों का कहना है कि बड़ी बहन ने छोटे भाई को पीटने से बचा लिया था और खुद मां के हत्थे चढ़ गई जिसके बाद मां ने बेटी का गला घोंट दिया. वहीं कमरे से निकाले जाने के बाद छोटा भाई सिंघम जोर-जोर से रोने लगा जिसकी चीखने की आवाज सुनकर पड़ोस के लोग आए और उन्होंने दरवाजा तोडक़र खोला तो देखा कि संजना जमीन पर पड़ी थी.
इसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया. वहीं घटना के बाद मृतक बच्ची के पिता ने अपनी पत्नी रेखा हाड़ा के खिलाफ मामला दर्ज किया है और पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया है.
वहीं घटना के बाद पुलिस उप अधीक्षक तररूकांत सोमानी ने बताया कि आरोपी महिला ने पूछताछ में बताया है कि उसके बड़े बेटे के दिल में छेद है और इलाज भी करवाने के बाद वह ठीक नहीं हुआ जिसके बाद महिला को कई दिनों से सपना आ रहा था कि परिवार के किसी सदस्य की बलि देनी होगी जिससे उसका बेटा ठीक हो जाएगा. ऐसे में महिला ने कुछ दिन पहले अपने पति को भी मारने की कोशिश की थी.
पुलिस ने बताया कि महिला के दिमाग में बलि देकर परिवार के लोगों को मारने का प्लान चल रहा था जिसके बाद शनिवार को मौका मिलते ही उसने दोनों बच्चों को मारने की कोशिश की. हालांकि, मृतक बच्ची के भाई को पहले कमरे के बाहर निकाल दिया था. पुलिस ने फिलहाल महिला का मेडिकल करवाया है और आगे उससे पूछताछ की जा रही है.

Check Also

कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा में शामिल होगें अखिलेश यादव

लखनऊ,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)ः भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की तरफ से कल कांग्रेस और सपा के गठबंधन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *