Breaking News

आईआरसी के कार्यक्रम में सीएम योगी ने कही ये बड़ी बात

लखनऊ। सीएम योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश में कनेक्टविटी को लेकर बड़ा दावा किया है। एक्सप्रेसवे प्रदेश के रूप में स्थापित करने में जुटे योगी ने कहा कि यूपी के हर छोड़ से लखनऊ को फोर लेन कनेक्टिविटी से जोडऩे की योजना पर काम हो रहा है। जल्द ही आप प्रदेश के जिस छोड़ से प्रवेश करेंगे फोर लेन सडक़ मिलेगी। भारतीय सडक़ कांग्रेस (आईआरसी 2022) के 81वें अधिवेशन का शुभारंभ करते हुए सीएम योगी ने ए दावा किया। कार्यक्रम का आयोजन इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में हो रहा है। 8 से 11 अक्टूबर तक चलने वाले अधिवेशन में सडक़ निर्माण से जुड़ीं राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय कंपनियों के 2500 प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं। सीएम योगी के साथ-साथ कार्यक्रम में केंद्रीय सडक़ परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी भी मौजूद रहे।
उत्तर प्रदेश लोक निर्माण विभाग की ओर से आयोजित इंडियन रोड कांग्रेस के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आजादी के अमृत काल में उत्तर प्रदेश को 81वें अधिवेशन के लिए चुना गया है। इसके लिए मैं आप सभी को धन्यवाद देता हूं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में नितिन गडकरी ने जिस मजबूती और आत्मविश्वास के साथ इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास पर फोकस किया, वह आज एक मॉडल के रूप में देखा जाता है। पिछले साढ़े आठ साल में देश रोड इन्फ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में जिस प्रकार से आगे बढ़ा हैं, उसी से प्रेरणा लेकर हमने यूपी में काम शुरू किया।
सीएम योगी ने कहा कि हमने यह महसूस किया कि 25 करोड़ जनता की आय में कई गुना वृद्धि करनी है तो हमें इन्फ्रास्ट्रक्चर पर ध्यान देना ही होगा। उसी आधार पर हमने अपने कार्यक्रमों को आगे बढ़ाया। इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए हमने इंटरस्टेट कनेक्टिविटी पर सबसे ज्यादा फोकस किया।
मुख्यमंत्री ने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि आज औद्योगिक निवेश के लिए यह आवश्यक है कि हम न केवल बेहतर कानून व्यवस्था प्रदान करें, बल्कि हमारी प्रशासनिक मशीनरी समय पर निर्णय लेते हुए ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की गतिविधि को भी आगे बढाए। इसके साथ ही हम इन्फ्रास्ट्रक्चर पर फोकस करते हुए वल्र्ड क्लास के एक्सप्रेसवे के जाल बिछाने का भी कार्य करें, क्योंकि इन्फ्रास्ट्रक्चर किसी भी इकॉनोमी की बैक बोन होती है। अर्थव्यवस्था को अगर बूस्टअप करना है तो अच्छा इन्फ्रास्ट्रक्चर उसकी पहली शर्त होती है।
मुझे ए बताने में प्रसन्नता हो रही है कि सरकार ने कोरोना महामारी के काल में भी अपने दो पिछड़े क्षेत्र पूर्वांचल और बुंदेलखंड को वल्र्डक्लास एक्सप्रेस वे के साथ जोडऩे का कार्य किया है। हम कोरोना के सामने रुके नहीं और झुके भी नहीं। इसके अलावा दिल्ली मेरठ 12 लेन एक्सप्रेसवे को न सिर्फ बनाया, बल्कि राष्ट्र को समर्पित भी किया। इसके साथ ही आज यूपी एफडीआर तकनीक को सबसे सफलतापूर्वक लागू करने वाला राज्य है। हमारी ग्रामीण सडक़ें इसी तकनीक से बन रही हैं। इससे हम एक तिहाई कम लागत में ज्यादा टिकाऊ सडक़ें बना रहे हैं।
मुख्यमंत्री ने अधिवेशन में आए रोड तकनीकी विशेषज्ञों को संबोधित करते हुए कहा कि हमारा समाज भगवान विश्वकर्मा की पूजा करने वाला है, मगर तकनीक की बात आते ही अक्सर हम दूसरे देशों की ओर देखने लगते हैं। हमें इसपर मंथन करना चाहिए। हमारे तकनीकी विशेषज्ञ कभी कभी लकीर के फकीर बने रहते हैं। हमें इससे उभर कर नए सिरे से सोचने और नयी परिस्थिति के अनुसार अपने आप को ढालने के लिए तैयार होना होगा।

मुख्यमंत्री ने इंडियन रोड कांग्रेस के अधिवेशन के मंच से ही रोड इन्फ्रास्ट्रक्चर में इनोवेटिव आइडिया के लिए उत्तर प्रदेश की ओर से प्रतिवर्ष मेडल देने का एलान किया। उन्होंने कहा कि आईआरसी हर साल अपने अधिवेशन के माध्यम से रोड इन्फ्रास्ट्रक्चर में इनोवेटिव आईडिया के लिए अपने कुछ मेडल जारी करता है। मैं यहां पर यूपी मेडल फॉर इनोवेटिव टेक्नॉलॉजी इन रोड टेक्नोलॉजी एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रदान करने की घोषणा करता हूं। मैं आईआरसी से कहूंगा कि वो यूपी सरकार की ओर से प्रतिवर्ष इसे जारी करें, इसके लिए जो भी खर्च आएगा वो यूपी सरकार वहन करेगी।
सीएम योगी ने सडक़ सुरक्षा के मुद्दे पर कहा कि गलत इंजीनियरिंग के कारण हर साल बहुत से लोगों की जान चली जाती है। कोरोना जैसी महामारी के दौरान यूपी के अंदर लगभग 23,600 मौतें हुई हैं, लेकिन अगर सडक़ दुर्घटनाओं की बात करें तो हर साल 20 हजार मौतें हो रही हैं। ये मौतें हमारे सामने सबसे बड़ा चैलेंज हैं। मैं चाहता हूं कि अगले तीन दिन तक चलने वाले इंडियन रोड कांग्रेस के इस अधिवेशन में आप सभी तकनीकी विशेषज्ञ इस बात पर मंथन करें कि कैसे टेक्नोलॉजी का उपयोग करके हम रोड एक्सिडेंट को कम कर सकते हैं।

Check Also

कड़क प्रशासक एवं जनप्रिय अफसर के रूप में आज भी जाने जाते हैं, स्व. कैलाश नारायण पाण्डेय- आनंद उपाध्याय

लखनऊ,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)। सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी स्वर्गीय कैलाश नारायण पांडे की पुण्य तिथि के अवसर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *