Breaking News

सर्दी का जारी है सितम, आज फिर रद्द हुई 291 ट्रेन, दर्जनों के बदले रूट

 

नई दिल्ली। 15 दिसंबर 2022 से लगातार बड़ी संख्या में ट्रेनों को कैंसिल करना पड़ रहा है। क्योंकि घना कोहरा ट्रेनों की रफ्तार में बाधा बन रहा है। मंगलवार को भी रेलवे ने लगभग 291 ट्रेनों को कैंलिस कर दिया गया है। जिससे लाखों यात्रियों को परेशान होना पड़ेगा। हालांकि रेलवे ने टिकट रिफंड के लिए किसी तरह की टेंसन लेने से यात्रियों को मना किया है। लेकिन जिन यात्रियों को जरूरी काम से निकलना था। उन्हें जरूर परेशानी का सामना करना पड़ेगा। जानकारी के मुताबिक आज कैंलिस की गई ट्रेनों में कुछ ट्रेनों को रूट बदलकर भी चलाए जाने की सूचना है।
3 जनवरी यानि मंगलवार को रेलवे द्वारा कुल 291 ट्रेनें कैंसिल करने की सूचना है। जिनमें 261 ट्रेनें पूरी तरह रद्द की गई हैं। जबकि 11 ट्रेनों को रूट बदलकर चलाया जाएगा। वहीं कुछ ट्रेनों को रिशेड्यूल भी किया गया है। जानकारी के मुताबिक कैंसिल होने वाली ट्रेनों में पैसेंजर, मेल और एक्?सप्रेस ट्रेनें शामिल हैं। रेलवे के नॅाटिफिकेशन के मुताबिक किसी भी यात्री का किराये का नुकसान नहीं होने दिया जाएगा। रिफंड पॅालिसी के तहत सभी यात्री अपना पैसा वापस पा सकते हैं। बताया जा रहा है कि घने कोहरे के चलते रेलवे को रोजाना करोड़ों रुपए का नुकसान झेलन पड़ रहा है।

कैंसिल होने वाली ट्रेनों की लिस्ट
सीतामढ़ी, 14217 ऊंचाहार एक्सप्रेस प्रयागराज संगम – चंडीगढ़, 12033 कानपुर सेंट्रल
नई दिल्ली, 12034 शताब्दी नई दिल्ली – कानपुर सेंट्रल
12357 दुर्गियाना एक्सप्रेस कोलकाता टर्मिनल
अमृतसर जंक्शन, 12398 महाबोधि एक्सप्रेस नई दिल्ली – गया जंक्शन
12873 झारखंड एक्सप्रेसहतिया- आनंद विहार टर्मिनल,
14003 मालदा टाउन- नई दिल्ली, 15130 मेल एक्सप्रेस वाराणसी सिटी
01620 शामली – दिल्ली जं।, 01621 दिल्ली जं.-शामली,
04030 फरुखनगर- दिल्ली सराय रोहिल्ला, 04041 दिल्ली सराय रोहिल्ला
04042 दिल्ली सराय रोहिल्ला- लखनऊ, 14005 लिच्छवी एक्सप्रेस सीतामढ़ी – आनंद विहार टर्मिनल,
14006 लिच्छवी एक्सप्रेस आनंद विहार टर्मिनल

Check Also

कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा में शामिल होगें अखिलेश यादव

लखनऊ,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)ः भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की तरफ से कल कांग्रेस और सपा के गठबंधन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *