Breaking News

जी-20 के मेहमान आएंगे नवाबों की नगरी और पहुंचेगे काशी धाम

लखनऊ। ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के साथ-साथ फरवरी में होने वाले जी-20 सम्मेलन के जरिए योगी सरकार ने ब्रैंड यूपी को दुनिया के बड़े देशों के सामने स्थापित करने की तैयारी शुरू कर दी है। जी-20 सम्मेलन का एक बड़ा हिस्सा यूपी में आयोजित किया जाएगा, जिसमें कुल 11 कार्यक्रम प्रस्तावित हैं। इन कार्यक्रमों का आयोजन फरवरी, अप्रैल, जून, अगस्त में किया जाएगा। लखनऊ 13 फरवरी को जी-20 के मेहमानों की मेजबानी करेगा। योगी सरकार इस आयोजन को यूपी की ब्रैंडिंग के मंच के तौर पर भी इस्तेमाल करेगी।


उत्तर प्रदेश में होने वाले 11 कार्यक्रमों में सबसे अधिक 6 आयोजन वाराणसी में किए जाएंगे। जी-20 देशों के मंत्रियों की बैठक के आयोजन के लिए भी वाराणसी को चुना गया है। यूपी में होने वाले कार्यक्रमों की शुरुआत 9 फरवरी से होगी। पहले कार्यक्रम का आयोजन आगरा में किया जाएगा। आगरा में एग्जिक्यूटिव ग्रुप की बैठक की जाएगी। ये आयोजन 9 से 10 फरवरी को होगा। लखनऊ में पहली डिजिटल इकॉनमी वर्किंग ग्रुप की बैठक 13 से 15 फरवरी के बीच होगी। वहीं, वाराणसी में कृषि वर्किंग ग्रुप की बैठक होगी। ये आयोजन 17 से 19 अप्रैल के बीच किया जाएगा। वाराणसी में यूथ-20 समिट होगा। कार्यक्रम का आयोजन 13 से 15 जून को होगा। डिवेलपमेंट वर्किंग ग्रुप 16-17 अगस्त और जी-20 देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक 18 अगस्त को वाराणसी में होगी। ग्रेटर नोएडा को बिजनेस-20 समिट के लिए चुना गया है। ये समिट 18 से 19 अगस्त को होगी। 20 अगस्त को वाराणसी में जॉइंट डिवेलपमेंट और विदेश मंत्रियों की बैठक होगी। 21-22 अगस्त को कल्चर वर्किंग ग्रुप की बैठक और 23 अगस्त को सभी देशों के मंत्रियों के बीच कल्चर वर्किंग ग्रुप की बैठक का आयोजन किया जाएगा। अंतिम कार्यक्रम 28 से 29 अगस्त को फायनांस वर्किंग ग्रुप की बैठक होनी है।
जिन-जिन शहरों में जी-20 से जुड़े कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। वहां के ऐतिहासिक, धार्मिक स्थलों और सरकारी दफ्तरों को सजाया जाएगा। विदेशी मेहमानों के आगमन से पहले सभी इमारतों में लाइटिंग की व्यवस्था की जाएगी। साथ ही ओडीओपी उत्पादों को गिफ्ट के रूप में दिया जाएगा। साथ ही विभिन्न तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाएगा। सम्मेलन में आने वाले प्रतिनिधियों को उत्तर प्रदेश की समृद्धशाली संस्कृति से परिचित कराने के लिए काशी, अयोध्या, मथुरा, आगरा और बुंदेलखंड के धार्मिक स्थलों का भ्रमण करवाया जाएगा।

 

Check Also

कड़क प्रशासक एवं जनप्रिय अफसर के रूप में आज भी जाने जाते हैं, स्व. कैलाश नारायण पाण्डेय- आनंद उपाध्याय

लखनऊ,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)। सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी स्वर्गीय कैलाश नारायण पांडे की पुण्य तिथि के अवसर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *