Breaking News

गोण्डा पुलिस की आंखे नम कर, चली गयी ओली

Getting your Trinity Audio player ready...

लखनऊ। गोण्डा जिले की पुलिस को एक बड़ा झटका लगा है। जिले के डॉग स्क्वायड में तैनात श्वान ओली की आकस्मिक मौत से पुलिस महकमा स्तब्ध रह गया। ओली की बीते वर्ष 2012 में पुलिस लाइन में तैनाती हुयी थी। जिसके बाद ओली ने पुलिस के जवानों का कदम से कदम मिलाकर साथ दिया। अपराधियों को पकड़वाने व सुंघने की अपनी गजब की काबलियत के दम पर ओली ने वक्त रहते बहुत से बेगुनाहों की जान बचायी थी। गोण्डा पुलिस लाइन में आज पुलिस अफसरों के साथ जवानों ने ओली की अंतिम विदाई में अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की है।
गोण्डा पुलिस के डाग स्क्वायड में तैनात ओली के निधन पर अपर पुलिस अधीक्षक गोण्डा शिवराज व अन्य पुलिस कर्मियों द्वारा ने अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि दी। ओली ने अपराधियों को पकडवानें व महत्वपूर्ण घटनाओं का खुलासा करने में अपना अमूल्य सहयोग प्रदान किया। वह हमेशा अमर रहकर हम सभी को प्रेरित करता रहेगा। ओली का अपराधियों को पकड़वाने व महत्वपूर्ण घटनाओं का खुलासा करने में रहा अमूल्य योगदान’ था। पुलिस महकमे में वह अपनी काबलियत के बल पर उसकी अलग पहचान थी। गोण्डा पुलिस के सामने कई ऐसी चुनौती आयी जब ओली ने अपनी काबिलियत के दम पर महकमे का नाम रौशन किया।

ओली का परिचय

एक्सप्लोसिव श्वान ओली का जन्म दिनांक 10.03.2011 को हुई थी नायक हैण्डलर तुलसी सोनकर के देख-रेख में श्वान ओली का प्रशिक्षण राष्ट्रीय श्वान प्रशिक्षण केन्द्र टेकनपुर जनपद ग्वालियर मध्यप्रदेश से हुआ था। 06 माह प्रशिक्षण प्राप्त करने के के बाद ओली का आगमन दिनाकं 17.06.2012 को पुलिस लाइन गोण्डा में हुआ था। ओली आज शाम 4 बजे कतर्व्य पालन के दौरान श्वान ओली का स्वर्गवास हो गया। ’ओली के अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि के दौरान प्रतिसार निरीक्षक व अन्य पुलिस के अधिकारी व कर्मचारीगण मौजूद रहे।’

गोण्डा पुलिस की शान, इन कार्यो से था उसका नाम

1. माह अप्रैल वर्ष -2014 में कोतवाली देहात के अन्तर्गत तोपखाना में छुपाये गये बम का पता लगायी।

 

2. माह अक्टूबर वर्ष 2015 में थाना खरगूपुर में सिलेंडर फटने की अफवाह पर ईट पत्थर में दबे बारूद का पता लगाई।

 

3. माह मई वर्ष 2016 में जनपद बहराइच थाना कोतवाली नगर के अंतर्गत रेलवे स्टेशन के पास कचड़े के ढेर में बम का पता लगायी।

 

4. माह दिसंबर 2019 में थाना कटरा बाजार के अंतर्गत चंद्रवतपुर घाट के किनारे गुमटी के पीछे झाड़ी में हथगोला का पता लगायी

 

5. माह नवंबर 2021 थाना वजीरगंज के अंतर्गत टिकरी कस्बा के करीब मकान में दबे बारूद का पता लगायी

एसएसपी गोण्डा भी दुखी

ओली की मौत पर एसएसपी गोण्डा आकाश तोमर भी दुखी हैं, हलांकि उन्होंने अभी हाल के महीनों में जिले की कमान संभाली थी, पर पुलिस महकमे ने जब ओली के जांबाजी और उसकी काबिलियत के बारे में उनकों बताया तो वह भी उसकी तारीफ करने लगे, श्री तोमर खुद भी जानवरों से विशेष लगाव रखते हैं। उन्होंने कहा कि ओली की मौत महकमे के लिए एक बड़ी क्षति है।

Check Also

काशी विश्वनाथ में रुपए लेकर स्पर्श दर्शन कराने पर प्राथमिकी दर्ज

Getting your Trinity Audio player ready... वाराणसी। श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में मंगलवार शाम श्रद्धालुओं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *