Breaking News

रोजगार की बारिश करने के लिए आयेगें कोने कोने से उद्योगपति

Getting your Trinity Audio player ready...

लखनऊ। उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशों पर जिस तरह से राजधानी लखनऊ में ग्राउंट ब्रेकिंग सेरमनी-3 का आयोजन किया जा रहा है, उससे साफ तौर पर लग रहा है कि आने वाले दिनों में यूपी निवेश का एक बड़ा हब बन कर उभरेगा, वहीं प्रदेश के अधिकारी भी इस सेरमनी को ऐतिहासिक बनाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं। आगामी तीन तारीख को देश ही नहीं विदेश से उद्योगपतियों का राजधानी में जमावड़ा रहेगा। आयोजन को सफल और शानदार बनाने के लिए शासन के साथ अन्य विभागों के अधिकारी पूरी लगन और शिद्दत के साथ जुटे हुये हैं, वहीं इन सब में सबसे महती भूमिका यूपी का सूचना विभाग निभा रहा है, इस आयोजन की गूंज दुनियाभर में सुनाई दे इसके लिए सूचना विभाग के अफसर एढ़ी से चोटी का जोर लगा रहे हैं।

राजधानी के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान संस्थान में आगामी 3 जून को यूपी के इतिहास में एक नया अध्याय लिखा जायेगा, यूपी में रोजगार की जोरदार बारिश करने के लिए देश के कोने कोने से उद्योगपति शिरकत करेंगे। इस भव्य समारोह का उद्घाटन देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे। ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में पीएम नरेंद्र मोदी 75,000 करोड़ से अधिक की परियोजनाओं का डिजिटली भूमि पूजन करेंगे। इसमें 2,000 से अधिक परियोजनाओं का भूमि पूजन किया जाएगा। सेरेमनी में अडाणी समूह की 4,900 करोड़ और हीरानंदानी समूह के 9,100 करोड़ से बनने वाले डेटा सेंटर का शिलान्यास किया जाएगा। इसके अलावा माइक्रोसॉफ्ट के 2,100 करोड़ की लागत से साफ्टवेयर सेंटर का भी भूमि पूजन होगा। आईटी एवं इलेक्ट्रॉनिक क्षेत्र से 21,000 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास होगा। वहीं, डालमिया ग्रुप की 600 करोड़ की लागत से बनने वाली सीमेंट निर्माण फैक्ट्री और हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड के डिटर्जेंट प्लांट का भी शिलान्यास होगा। कार्यक्रम में साढ़े पांच हजार करोड़ से अधिक की सरकारी परियोजनाओं का भी भूमि पूजन होगा। इसमें 3,800 करोड़ की लागत से यमुना एक्सप्रेस-वे क्षेत्र में बनने वाला मेडिकल डिवाइस पार्क भी शामिल है। वहीं हमीरपुर में हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड का डिटर्जेंट मैन्युफैक्चरिंग प्लांट भी शामिल है। अब तक की स्थिति के मुताबिक करीब ₹21,000 करोड़ निवेश राशि की परियोजनाएं केवल आईटी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स सेक्टर की हैं जबकि एमएसएमई, टेक्सटाइल, पर्यटन, ऊर्जा, फ़ूड प्रोसेसिंग, खाद्य सुरक्षा और औषधि सेक्टर से जुड़ी अनेक परियोजनाओं को भी शुरू करने की तैयारी है। वहीं कार्यक्रम में आकर्षण का मुख्य केंद्र स्टॉल भी होंगे। कार्यक्रम में 12 स्टार्टअप और 14 निवेशकों के स्टॉल लगाए जाएंगे। इसमें कई उद्योग घरानों द्वारा किए जा रहे निवेश का प्रोटोटाइप बना होगा। इसके अलावा ओडीओपी उत्पादों के 62 स्टॉल लगाए जाएंगे। इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में होने वाली जीबीसी थ्री में करीब तीन हजार लोगों के पहुंचने की संभावना है। इसमें केंद्रीय मंत्रियों समेत बड़ी संख्या में भारत सरकार के अधिकारी भी शामिल हैं। शासन स्तर पर जीबीसी थ्री के लिए 10 कमिटी बनाई गई हैं। आईआईडीसी और मुख्य सचिव आयोजन की परियोजनाओं की खुद मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

ग्राउंड ब्रेकिंग सेरमनी-3 के गवाह बनेंगे ये उद्योग घराने

जीबीसी थ्री में आरपीजी संजीव गोयनका ग्रुप के चेयरमैन संजीव गोयनका, आईटीसी लिमिटेड के सीईओ संजीव पुरी, मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड के चेयरमैन आरसी भार्गव, मेदांता के चेयरमैन नरेश त्रेहन, प्रोड्यूसर और निर्देशक बोनी कपूर, लूलू ग्रुप के एमडी युसूफ अली, ब्रह्मोस के सीईओ और एमडी अतुल दिनकर राणे, टोरंट फार्मास्यूटिकल्स के चेयरमैन एमेरिटस सुधीर मेहता, ओला के फाउंडर भाविश अग्रवाल, गोदरेज प्रापर्टीज के एग्जिक्यूटिव चेयरमैन पिरोजशॉ गोदरेज, इंफोसिस के संस्थापक सदस्य मोहन दास पई, निर्माता और निर्देशक केसी बोकाडिया, गिन्नी फिलामेंट्स के सीएमडी शिशिर जयपुरिया, बैद्यनाथ आयुर्वेद के एमडी अनुराग शर्मा, ग्रीनको ग्रुप के संस्थापक और एमडी अनिल कुमार चलमालसेट्टी, एमएक्यू सॉफ्टवेयर के एमडी राजीव अग्रवाल, ओयो के संस्थापक और सीईओ रितेश अग्रवाल, गैलेंट ग्रुप ऑफ इंडस्ट्रीज के चेयरमैन सीपी अग्रवाल, सुखबीर एग्रो एनर्जी लिमिटेड के निदेशक सुखबीर सिंह, नोएडा परिधान निर्यात क्लस्टर के अध्यक्ष ललित ठुकराल, एलएंडटी लिमिटेड के एमडी और सीईओ एसएन सुब्रह्मण्यन समेत बड़े उद्योगपति शामिल होंगे।

 

बनाया जायेगा मिनी पीएमओ

ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में आ रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कार्यक्रम स्थल पर ही अतिथियों के साथ भोजन करेंगे। उनके विमान क्रू और कुछ सुरक्षा कर्मियों के लिए एयरपोर्ट स्थित वीआईपी हैंगर में व्यवस्था की है। दोनों ही स्थानों पर खाद्य सुरक्षा से जुड़े अधिकारियों की तैनाती कर दी गई है। प्रधानमंत्री जहां भी जाते हैं उनका एक मिनी दफ्तर हर समय उपलब्ध रहता है। ऐसे में दो स्थानों पर मिनी पीएमओ बनाया जा रहा है। यहां ब्रॉडबैंड कनेक्शन, लैपटॉप, कम्प्यूटर, थ्री डी कलर प्रिंटर, एसटीडी और आईएसडी सुविधा वाला हॉटलाइन फोन समेत कम्प्यूटर ऑपरेटर तैनात रहेंगे। इसके अलावा इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान स्थित कार्यक्रम स्थल पर एम्बुलेंस तैनात रहेगी। साथ ही चिकित्सा शिविर रहेंगे जहां सीनियर डॉक्टरों की तैनाती की जाएगी। इसके अलावा चार से पांच सितारा नामचीन छह होटलों में अतिथियों के रुकने की व्यवस्था की गई है। लखनऊ के ताज, रेनेसा, हायत, मेरियेट, नोवोटल, क्लार्स अवध होटलों में मेहमानों के लिए 150 कक्ष तथा 25 सुइट बुक किए गए हैं। वीवीआइपी मेहमानों तथा बड़े उद्यमियों को कार्यक्रम स्थल तक आने जाने के लिए लग्जरी कारें मिलेंगी वहीं अन्य मेहमानों के लिए 50 वातानुकूलित इलेक्ट्रिक बसें मंगाई जा रही हैं। दोपहर में खाने के लिए इन्दिरागांधी प्रतिष्ठान परिसर में वातानुकूलित फूड एरिया विकसित किया जाएगा। जो अलग-अलग श्रेणी के मेहमानों के लिए अलग अलग रहेगा। वहीं सुरक्षा एजेन्सियो द्वारा कार्यक्रम में सुरक्षा के ऐसे हाइटेक इंतेजाम किये गये हैं कि कोई परिंदा भी पर न मार सके।

 

Check Also

फलक पर चमके पायनियर माण्टेसरी स्कूल के सितारे

Getting your Trinity Audio player ready... लखनऊ,(मॉडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)ः बीते दिनों जारी हुये आईसीएसई बोर्ड …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *