Breaking News

आईएएस योगेश कुमार ने बच्चों को दी सीख, सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं

Getting your Trinity Audio player ready...

लखनऊ। शिक्षा क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बना चुका बाल निकुंज इंटर कॉलेज लगातार सफलता के सोपन चढ़ रहा है। शिक्षा के उच्च मापदंड रखने वाला यह विद्यालय अपने छात्रों को शिक्षा और संस्कार देने के लिए कटिबद्ध है। इसके साथ ही विद्यालय की ओर से छात्रों को भविष्य की चुनौतियों का सामना करने के लिए शारीरिक व मानसिक रूप से भी तैयार किया जा रहा है। भविष्य में छात्रों को अपना लक्ष्य किस प्रकार हासिल करना है और वह अपने लक्ष्य किस प्रकार निर्धारित करें इसके लिए भी समय-समय विद्यालय की ओर से ऐसे आयोजन किए जाते हैं कि जिससे बच्चों के व्यक्तित्व में निखार आने के साथ ही उनका मानसिक स्तर भी और बेहतर हो। इस क्रम में बाल निकुंज इंटर कॉलेज मोहिबुल्लापुर सीतापुर रोड स्थित सभागार में लक्ष्य दर्शन संभाषण सेमिनार का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में बाल निकुंज स्कूल की समस्त शाखाओं से कक्षा 11 और 12 के लगभग डेढ़ हजार से अधिक छात्र-छात्राओं के साथ-साथ सीनियर 80 से अधिक अध्यापक अध्यापिकाओं ने भाग लिया। इस सेमिनार के मुख्य वक्ता योगेश कुमार रहे। योगेश कुमार आईएएस अधिकारी हैं और मौजूदा वक्त में मनरेगा आयुक्त के पद पर तैनात है।

इस कार्यक्रम में बतौर मुख्य वक्ता बोलते हुए योगेश कुमार ने बच्चों से आह्वïान किया कि बच्चों, उठो ,जागो और लक्ष्य प्राप्त करो, यह आपके जीवन में सक्सेस पाने का सबसे सरल और ईमानदारी भरा फार्मूला है। आप याद रखें कि जीवन सफल होने का शार्टकट नहीं होता है, जो शार्टकट से चलकर सफलता हासिल करना चाहते हैं वो कभी भी अपने जीवन में सही मायनों में सफल नहीं हो सकते हैं। अगर आप अपने जीवन में सफल होना चाहते हैं तो आपको इस बात को गांठ बांध लेना चाहिए कि मेहनत, ईमानदारी, लक्ष्य निर्धारण, हौसला और आपका अपने लक्ष्य के प्रति समर्पण ही आपकी सफलता के पैरामीटर को तय करता है। जीवन अगर सफल होना है तो कभी मेहनत से मत घबराइये, क्यों कि एक बात याद रखें संघर्ष जितना ज्यादा होता है, सफलता भी उतनी ही बड़ी होती है।
योगेश कुमार ने बच्चों को बताया कि हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के यह जो चार सालों का जो समय है यह आपके पूरे 80 वर्षों की जिंदगी निर्धारित करता है। यह टीनएज का समय मानसिक और शारीरिक परिवर्तन का समय होता है उम्र के इस पड़ाव में अक्सर देखा गया है कि बच्चों में भटकाव की स्थिति रहती है, अगर आप अपने जीवन में सफल होना चाहते हैं तो इससे बचे और आने वाली परेशानियों का मुकाबला करते हुए जीवन में आगे बढ़े। इस उम्र की खास बात यह होती है कि इसमें बच्चों में ऊर्जा की मात्रा बहुत अधिक होती है और यदि प्रकृति की अनमोल धरोहर का सही तरीके से इस्तेमाल ने किया जाए तो यह अक्सर क्रोध और झुंझलाहट के रूप सामने आती है। अगर आप के साथ भी ऐसा होता है तो आप इस पर काबू पाएं क्यों कि इस स्थिति में खुद आप ही हैं जो अपने आपको संभाल सकते हैं। अलबत्ता यह बात जरूर है कि आपके माता-पिता और शिक्षक इसमें बतौर काउंसलर बेहतर भूमिका निभा सकते हैं। इसलिए आप उनसे अपने हर एक जिज्ञासा को जरूर साझा करें। जीवन में यदि आप अपना कोई लक्ष्य निर्धारित करना चाहते हैं तो अपने गुरुजनों से विचार-विमर्श के साथ लक्ष्य निर्धारित करें, यह भविष्य में आपके लिए बहुत उपयोगी साबित होगा, क्यों कि वो आपके शिक्षक ही हैं तो आपकी प्रतिभा, आपके गुण और अवगुण दोनों को ही जानते और समझते हैं। अगर लक्ष्य हासिल करना है तो अपने मन को केंद्रित भी रखना सीखना होगा।
इस कार्यक्रम के दौरान विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने श्री कुमार से शिक्षा के क्षेत्र से लेकर भविष्य और सफलता से जुड़े हुए कई सवाल किए। इनका जवाब इस आईएएस अधिकारी बहुत ही बेहतर तरीके से दिया। योगेश ने अपने सवालों के जवाबों से बच्चों को पूरी तरह से संतुष्टï किया। अपने जवाबों के दौरान उन्होंने इस बात का खास ध्यान रखा कि बच्चों के जिज्ञान भरे प्रश्रों के जवाब वो बेहद सरल भाषा में दें, जिससे बच्चों को इनको समझने में किसी भी प्रकार की दिक्कत न हो।


इस अवसर कक्षा 12 की छात्रा सुहानी शर्मा ने मेमोराइज कैसे करें? जबकि विद्यालय से लेकर होमवर्क करने में ही पूरा समय निकल जाता है? इस पर श्री कुमार ने जवाब दिया कि बात यह नहीं है कि कई घंटों तक आपने पढ़ाई की बल्कि बात यह है कि किसी विषय को पढ़ लिया या किसी विषय को सीख लिया यह भय को निकाल फेको ,ड्रीम प्रोजेक्ट पर डटकर दबाव रहित होकर दिन रात मेहनत करो, ऑनेस्ट स्टडी हमेशा आपके साथ रहती है वही आपकी नीव तैयार करती है कार्यक्रम के इस अवसर पर कॉलेज कोऑर्डिनेटर सुधीर मिश्रा, प्रधानाचार्य भगवती भंडारी एवं समस्त शिक्षक गण मौजूद रहे।

क्या कहते हैं एमडी

इस कार्यक्रम को लेकर जब विद्यालय के एमडी एचएन जायसवाल से बात की गई तो उन्होंने बताया कि हमारा मकसद देश के लिए छात्रों को जागरुक और जिम्मेदार नागरिक बनाना है। इसके साथ हम अपने विद्यालय के छात्रों को भविष्य की चुनौतियों के लिए भी तैयार करते हैं। हम अलग-अलग क्षेत्रों से जुड़े हुए लोगों को अपने विद्यालय में बुलाते हैं और उनका संवाद छात्रों से कराते हैं। इसके पीछे मकसद यही होता है कि हमारे छात्र उनके अनुभवों से लाभ प्राप्त कर सकें। इसी क्रम में हमने आज मनरेगा आयुक्त योगेश कुमार को अपने विद्यालय में आमंत्रित किया था और उन्होंने हमारा आमंत्रण स्वीकर किया और यहां आकर हमारे स्कूल के बच्चों का मार्गदर्शन किया।

Check Also

रैली निकालकर दिया मतदाता जागरूकता का संदेश

Getting your Trinity Audio player ready... लखनऊ/उन्नाव,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)ः केंद्रीय संचार ब्यूरो, सूचना एवं प्रसारण …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *