Breaking News

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर एनसीसी के पूर्व कैडेट एमपी सिंह का हुआ सम्मान

Getting your Trinity Audio player ready...

लखनऊ। आजादी के अमृत महोत्सव के साथ ही जश्न-ए-आजादी के मौके पर दिल्ली एनसीसी निदेशालय ने भी एक अलग तरह का शमां बांधा, स्वंतत्रता दिवस के मौके पर एनसीसी निदेशालय ने मनमोहक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया, इस अवसर पर एक भारत श्रेष्ट भारत के तहत देश के कोने-कोने से आये हुये एनसीसी कैडेटों ने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किये। वहीं कार्यक्रम में 14 देशों के एनसीसी कैडेट भी शामिल होकर अपने देश की सस्ंकृति से परिचय करवाया। इस मौके पर एनसीसी निदेशालय ने अपने उन पूर्व कैडेटों को विशेष रूप से आंमत्रित किया, जिनका एनसीसी में विशेष योगदान था। इन कैडेटों को तिरंगा और प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया।
देश की राजधानी दिल्ली में हुये स्वंतत्रता दिवस पर आयोजित हुये कार्यक्रम में देश के कोने कोने से एनसीसी के कैडेटों ने भाग लिया। इस अवसर पर कैडेटों ने विविध प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर देश की संस्कृति से परिचय कराते हुये एकता का परिचय दिया। साहस और अनुशासन के लिए पहचाने जाने वाले एनसीसी कैडेटों ने एक से बढ़कर एक देशभक्ति के कार्यक्रम प्रस्तुत किये। एक भारत श्रेष्ठ भारत के तहत हुये इस कार्यक्रम में एनसीसी कैडेटों ने एकता में अनेकता का संदेश दिया। वहीं 14 देशों के एनसीसी कैडेटों ने कार्यक्रम में भाग लेकर कार्यक्रम को और भी आकर्षक बना दिया, विभिन्न देशों से आये कैडेटों ने देशभक्ति के गीतों पर जमकर थिरके, वहीं कार्यक्रम में शामिल होकर अपने देशों की संस्कृति और विचारों से रूबरू करवाया। इस अवसर पर एनसीसी के उन पूर्व कैडेटों को भी बुलाया गया, जिनका एनसीसी में विशेष योगदान रहा, साथ ही वह सी सर्टीफिकेट होल्डर थे। एनसीसी निदेशालय ने अपने इन कैडेटों को तिरंगा व प्रमाण पत्र देकर उनका मान बढ़ाया। कार्यक्रम में शामिल हुये सी सर्टीफिकेट धारक व मौजूदा समय बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर यूनिवर्सिटी में पुस्तकालय एवं सूचना विभाग में बतौर प्रो. कार्यरत एम.पी. सिंह ने कहा कि कार्यक्रम में शामिल होना उनके लिए गर्व की बात है, पुराने लोगों से मिलकर सुनहरी यादें ताजा हो गयी। श्री सिंह ने कहा कि एनसीसी का लक्ष्य हमेशा युवाओं में चरित्र निर्माण करना, अनुशासन, अदम्य साहस, लीडरशिप के साथ ही राष्ट्र के प्रति समर्पण का भाव विकसित करना है, उन्होंने कहा कि आज हमें इस बात पर गर्व होता है कि हम ऐसी प्रतिष्ठित संस्था के सी सर्टीफिकेट धारक कैडेट रह चुके हैं।

 

Check Also

बाढ़ग्रस्त इलाकों में निराश्रित गोवंश को लेकर मंत्री ने जतायी चिंता, दिये यह निर्देश

Getting your Trinity Audio player ready... लखनऊ,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसरी न्यूज)ः प्रदेश के पशुधन एवं दुग्ध विकास …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *