Breaking News

शरीर में इस वजह से बढ़ता है कोलेस्ट्रॉल

Getting your Trinity Audio player ready...

लखनऊ। हमारे शरीर को कुछ मात्रा में कोलेस्ट्रॉल की जरूरत होती है. हमारे शरीर को हेल्दी सेल्स बनाने के लिए कोलेस्ट्रॉल की जरूरत होती है लेकिन शरीर में इसकी मात्रा ज्यादा होने से कई तरह की हृदय संबंधित बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है. लेकिन कुछ कारणों के चलते शरीर में कोलेस्ट्रॉल का लेवल अचानक से बढऩे लगता है. आइए जानते हैं उन कारणों के बारे में-
शरीर को जितने कोलेस्ट्रॉल की जरूरत होती है, उतनी मात्रा में लीवर नेचुरली इसका निर्माण करता है. हालांकि शरीर में होने वाली कई दिक्कतों के चलते ब्लड कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढऩे लगता है. कोलेस्ट्रॉल का लेवल ज्यादा होना हमारी सेहत के लिए काफी खतरनाक साबित हो सकता है. इसके बढऩे से हार्ट डिजीज और स्ट्रोक का खतरा बढ़ता है.

सेंटर फोर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुताबिक, हाई ब्लड कोलेस्ट्रॉल को 200 मिलीग्राम प्रति डेसीलीटर या उससे ज्यादा खतरनाक माना जाता है. वहीं, हेल्दी कोलेस्ट्रॉल का लेवल 200 से कम होता है.
अमेरिकन हार्ट एसोसिएशनके मुताबिक, कोलेस्ट्रॉल के कॉमन कारणों में असंतुलित डाइट, फिजिकल एक्टिविटी ना के बराबर होना और मोटापा शामिल है. ये सभी चीजें लंबे समय तक कोलेस्ट्रॉल में बढ़ोतरी का कारण बनती हैं.
शरीर में कोलेस्ट्रॉल का लेवल हाई होने पर डॉक्टर आपको कुछ ऐसी चीजें बता सकते हैं जिससे आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल कम रहे जैसे- डाइट और खाने की आदतों में बदलाव, रोजाना फिजिकल एक्टिविटी करना, वजन मेंटेन रखना और स्मोकिंग ना करना. कई लोगों में जेनेटिक्स कारणों के चलते भी कोलेस्ट्रॉल का लेवल हाई होता है. इसे फैमिली हाइपरकोलेस्ट्रोलेमिया कहा जाता है.

किन कारणों के चलते अचानक से बढ़ता है कोलेस्ट्रॉल लेवल?

कुछ मामलों में, कोलेस्ट्रॉल लेवल काफी तेजी से बढ़ता है. अचानक से कोलेस्ट्रॉल लेवल बढऩे के कारणों में ये बातें शामिल हैं-
कॉफी का अधिक मात्रा में सेवन- कॉफी में कैफीन की मात्रा काफी ज्यादा होती है जिस कारण ब्लड प्रेशर तेजी से बढ़ता है. इसके अलावा कॉफी का सेवन करने से ब्लड कोलेस्ट्रॉल भी तेजी से बढऩे लगता है. साल 2018 में हुई एक स्टडी के मुताबिक, रोजाना 4 एस्प्रेसो का सेवन करने से शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल का लेवल अचानक से बढऩे लगता है.
साइकोलॉजिकल स्ट्रेस- स्ट्रेस और कोलेस्ट्रॉल लेवल के बीच गहरा संबंध है. सइकोलॉजिकल स्ट्रेस से शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल का लेवल अचानक से काफी ज्यादा बढऩे लगता है. यह कोर्टिसोल हार्मोन के कारण हो सकता है, जो स्ट्रेस के दौरान बढ़ जाता है. साल 2020 के एक आर्टिकल के मुताबिक, कोर्टिसोल हार्मोन का लेवल ज्यादा होने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल का लेवल भी बढ़ता है.
स्मोकिंग- स्मोकिंग के कारण भी कोलेस्ट्रॉल के लेवल में बढ़ोतरी होती है. ऐसा सिगरेट में मौजूद निकोटिन और तंबाकू की वजह से होता है.
साल 2021 के एक आर्टिकल के मुताबिक, सिगरेट पीते समय, बहुत अधिक मात्रा में निकोटिन हमारे फेफड़ों के जरिए खून में प्रवेश करता है. जिसके कारण शरीर में से कैटाकोलमाइन रिलीज होता है. कैटाकोलमाइन का लेवल बढऩे से लिपोलिसिस, या लिपिड ब्रेकडाउन बढ़ जाता है, जिससे रुष्ठरु कोलेस्ट्रॉल का उत्पादन बढ़ जाता है. रुष्ठरु कोलेस्ट्रॉल में बढ़ोतरी से ॥ष्ठरु कोलेस्ट्रॉल, या गुड कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम हो जाता है.
दवाइयां- कुछ दवाइयों के सेवन से शरीर में कोलेस्ट्रॉल का लेवल काफी ज्यादा बढ़ जाता है. इन दवाइयों के कारण बढ़ता है शरीर में कोलेस्ट्रॉल का लेवल-
ब्लड प्रेशर कम करने वाली दवाइयां, बीटा ब्लॉकर्स, डानाज़ोल, रेटिनॉइड्स, एंटीवायरल ड्रग्स, एंटी साइकोटिक्स आदि. सामान्य तौर पर, ये दवाइयां लिपिड मेटाबॉलिज्म को बदलकर ब्लड कोलेस्ट्रॉल के लेवल को बढ़ाती हैं. कुछ दवाइयां, जैसे कि एंटीसाइकोटिक्स, वजन बढ़ाने के साथ ही कोलेस्ट्रॉल के लेवल को भी बढ़ा सकती हैं.
प्रेग्नेंसी- प्रेग्नेंसी के दौरान,ब्लड कोलेस्ट्रॉल लेवल 30 से 40 फीसदी तक बढ़ जाता है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि भ्रूण की ग्रोथ और विकास के लिए कोलेस्ट्रॉल काफी जरूरी होता है. हालांकि, गर्भावस्था के दौरान कोलेस्ट्रॉल का बहुत अधिक बढऩा संभव है. इसे जेस्टेशनल हाइपरकोलेस्ट्रोलेमिया या मैटरनल हाइपरकोलेस्ट्रोलेमिया कहा जाता है.
तेजी से वजन कम होना- कोलेस्ट्रॉल का लेवल अचानक से बढऩे के पीछे एक कारण तेजी से वजन का कम होना है. 2019 की एक स्टडी में, तीन एडल्ट्स ने बहुत कम कैलोरी की डाइट लेकर तेजी से अपना वजन कम किया. इन तीनों ही मामलों में, उनका रुष्ठरु कोलेस्ट्रॉल नॉर्मल लेवल तक गिरने से पहले अस्थायी रूप से बढ़ गया. रिसर्चर्स के मुताबिक, यह मेटाबॉलिज्म में बदलाव से संबंधित हो सकता है.
ऐसे में अगर आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो जरूरी है कि हेल्थ केयर प्रोफेशनल्स से बात जरूर कर लें ताकि आपको किसी तरह के साइड इफेक्ट्स का सामना ना करना पड़े , जैसे कोलेस्ट्रॉल लेवल का अचानक से बढ़ जाना.

Check Also

प्रदेश में मोतियाबिंद के सबसे ज्यादा आपरेशन करने वाले चिकित्सक बने डा. कृष्ण प्रताप सिंह

Getting your Trinity Audio player ready... लखनऊ,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)ः उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में जन्में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *