Breaking News

माध्यमिक शिक्षक संघ ने शिक्षा निदेशक को दिया ज्ञापन, उठाईं ये मांगें

लखनऊ। माध्यमिक शिक्षक संघ ने अपनी मांगों को लेकर चल रहे धरना प्रदर्शन के बाद मुख्यमंत्री को संबोधित आज अपना सत्रह सूत्रीय मांग पत्र शिक्षा निदेशक को सौंपा। इस मौके पर बड़ी संख्या में संघ के नेता व कार्यकर्ताओं के अतिरिक्त शिक्षक मौजूद रहे। शिक्षक संघ के नेताओं ने कहा कि जब तक उनकी मांगें नहीं मानी जाती हैं तब तक उनका संघर्ष जारी रहेगा। शिक्षकों की उपेक्षा शिक्षक संघ बर्दाश्त नहीं करेगा। आपको बताते चलें कि पुरानी पेन्शन को बहाल किए जाने, वंचित तदर्थ शिक्षकों का विनियमितकरण किए जाने, वित्त विहीन शिक्षकों को पूर्णकालिक शिक्षक का दर्जा तथा समान कार्य के लिए समान वेतन, एवं सेवा शर्ते लागू किए जाने, माध्यमिक विद्यालय के शिक्षकों को नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा, जनवरी, 2022 से देय महंगाई भत्ता का भुगतान आदि 17 सूत्रीय ज्ञापन आज संयुक्त शिक्षा निदेशक कार्यालय पर आयोजित धरना के समापन अवसर पर मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन शिक्षा निदेशक ओपी मिश्र को प्रदेशीय मंत्री डा. आरपी मिश्र एवं जिलाध्यक्ष डा. आरके त्रिवेदी द्वारा सौपा गया। इसी के साथ जनपद स्तरीय समस्याओं का ज्ञापन जिला विद्यालय निरीक्षक राकेश कुमार पाण्डेय, जिला विद्यालय निरीक्षक (द्वितीय) डीके सिंह राठौर तथा लेखाधिकारी मनोज कुमार को प्रेषित किया गया। तेज बारिश के बावजूद धरने में भारी संख्या में शिक्षक एवं शिक्षिकाए सम्मिलित हुए। धरने का नेतत्व प्रदेशीय मंत्री एवं प्रवक्ता डा. आरपी मिश्र ने तथा संचालन जिलाध्यक्ष डा. आरके त्रिवेदी ने किया।
शिक्षकों को सम्बोधित करते हुए प्रदेशीय मंत्री/प्रवक्ता डा. आर.पी. मिश्र ने कहा कि राष्ट्र निर्माण का दायित्व निर्वहन करने वाला शिक्षक समुदाय जो विकट से विकट परिस्थितियों में भी निर्धारित सीमा में आगे बढकर दायित्वों का निर्वहन करता रहा है। ऐसी स्थिति में सहायता प्राप्त माध्यमिक शिक्षको की मांगो एवं समस्याओं पर सरकार की दृष्टि न जाना शिक्षक समुदाय को आक्रोशित कर रही है। परिणाम स्वरूप जिला संगठन संघर्ष के लिए बाध्य है।
जिलाध्यक्ष डा. आर.के. त्रिवेदी एवं जिला मंत्री महेश चन्द्र ने बताया कि शिक्षाधिकारीयों को सौपे गए जनपद स्तरीय ज्ञापन में समयबद्व प्रकरणों के निस्तारण के लिए सिटीजन चार्टर लागू किए जाने, एनपीएस शिक्षकों के लेजर पूर्ण कराने तथा राज्य अंश एवं देय ब्याज की धनराशि जमा कराकर एनएसडीएल खाता को अपडेट कराने, शिक्षकों के अवशेषों के प्रकरणों का विशेष कैम्प के माध्यम से निस्तारण कराये जाने आदि की मागें प्रमुख है।
आज के धरने में प्रमुख रूप से के प्रदेशीय मंत्री/प्रवक्ता एवं जिला संरक्षक डा. आरपी मिश्र, जिलाध्यक्ष डा. आरके त्रिवेदी, प्रदेशीय मंत्री नरेन्द्र कुमार वर्मा, मण्डलीय अध्यक्ष तुलसी राम मिश्र, जिला मंत्री महेश चन्द्र, काषोध्यक्ष विश्वजीत सिंह, आय व्यय निरीक्षक मीता श्रीवास्तव, चन्द्र प्रकाश शुक्ल, इनायतउल्लाह खां, इन्द्र प्रकाश श्रीवास्तव, अनिल शर्मा, अनुराग मिश्र, डा. एसके माणि शुक्ल, डा. पीके पन्त, मन्जु चौधरी, आरती वर्मा, डा. दिव्या श्रीवास्तव, राजकुमारी, विनीता श्रीवास्तव, पूर्व जिलाध्यक्ष एसकेएस राठौर, डा. सुशील त्रिपाठी, आरएस गौतम, आरपी सिंह, रजनेश शुक्ल, विनीत तिवारी, अखिलेश त्रिपाठी, रश्मि श्रीवास्तव, मनोरमा इन्दु, सत्यपाल सिंह, साकेत सौरभ बन्धु, स्वप्निल वाटसन, आजाद मसीह, सुमीत अजॉय दास, नवीन प्रकाश मसीह, राजीव डी. दयाल, शैलेन्द्र कुमार शुक्ल, साधना श्रीवास्तव, आदि उपस्थिति रहे।

Check Also

अवैध खनन पर शासन सख्त, बनाया यह मास्टर प्लान

लखनऊ,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)। भूतत्व एवं खनिकर्म विभाग के प्रमुख सचिव अनिल कुमार तृतीय ने प्रदेश …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *