Breaking News

जहरीली शराब की बिक्री पर आबकारी मंत्री ने दिये यह निर्देश

लखनऊ। प्रदेश के आबकारी राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) नितिन अग्रवाल ने कहा कि प्रवर्तन कार्य में खास तौर से ध्यान रखा जाये कि किसी भी दशा में जहरीली शराब की बिक्री न हो और न ही किसी अप्रिय स्थिति या मृत्यु की कोई घटना संज्ञान में आये। श्री अग्रवाल ने प्रवर्तन कार्य को और कारगर बनाये जाने, अवैध मदिरा के उत्पादन पर पूरी तरह से अंकुश लगाने और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये हैं। श्री अग्रवाल आज यहां गन्ना संस्थान में विभागीय अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में यह निर्देश दिये हैं।
आबकारी मंत्री ने समीक्षा के दौरान कहा कि राजस्व प्राप्ति के मामले में जिन जनपदों की स्थिति पिछले कई महीनों से खराब चल रही है, उन जनपदों के जिला आबकारी अधिकारी कार्य में तेजी लाते हुए निर्धारित लक्ष्य प्राप्त करें अन्यथा उनके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने जनपद इटावा, औरैया व फिरोजाबाद की लगातार खराब स्थिति को देखते हुए इन जनपदों के जिला आबकारी अधिकारी के विरूद्ध स्पष्टीकरण प्राप्त कर तत्काल विभागीय कार्यवाही के निर्देश के साथ ही 06 जनपदों, सम्भल, कानपुर नगर, कानपुर देहात, आजमगढ़, मुजफ्फरनगर तथा मैनपुरी के जिला आबकारी अधिकारियों को भी स्पष्टीकरण के निर्देश दिये गये हैं। उन्होंने कानपुर, अयोध्या, मुरादाबाद, सहारनपुर झांसी मण्डल के उप आबकारी आयुक्त को निर्धारित अवधि में लक्ष्य न प्राप्त करने पर जवाब तलब करने के निर्देश दिये और सभी अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि राजस्व लक्ष्य की प्राप्ति न करने तथा लापरवाही बरतने पर दण्डात्मक कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। आबकारी मंत्री ने विभाग द्वारा किये गये प्रवर्तन कार्य की समीक्षा करते हुए प्रवर्तन कार्य में विभाग के अधिकारियों के अच्छे प्रदर्शन की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि प्रवर्तन कार्य में इस बात का खास तौर से ध्यान रखा जाये कि किसी भी दशा में जहरीली शराब की बिक्री न हो और न ही किसी अप्रिय स्थिति या मृत्यु की कोई घटना संज्ञान में आये। श्री अग्रवाल ने प्रवर्तन कार्य को और कारगर बनाये जाने, अवैध मदिरा के उत्पादन पर पूरी तरह से अंकुश लगाने और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये हैं। समीक्षा बैठकर के दौरान अपर मुख्य सचिव, आबकारी संजय आर. भूसरेड्डी ने सभी विभागीय अधिकारी एक टीम के रूप में सक्रिय होकर कार्य करना सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्धारित लक्ष्य को पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कार्य में लापरवाही और उदासीनता कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी जनपदीय अधिकारी नियमित रूप से दुकानों का निरीक्षण करें जिससे कि अवैध शराब व अन्य अवैध कार्यों पर तत्काल रोक लगाई जा सके। श्री भूसरेड्डी ने राजस्व अर्जन की अद्यतन जानकारी देते हुए बताया कि माह दिसम्बर, 2022 तक विभाग द्वारा रू. 3,147.93 करोड़ का राजस्व प्राप्त किया गया है, जो गतवर्ष भी इसी अवधि में प्राप्त राजस्व रु.3,122.02 करोड़ की तुलना में रु. 25.91 करोड अधिक है। इस प्रकार राज्य सरकार को गतवर्ष के सापेक्ष इसी अवधि में लगभग 0.83 प्रतिशत अधिक राजस्व प्राप्त हुआ है। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि आबकारी विभाग के अंतर्गत निर्धारित की गई राजस्व प्राप्तियां को निर्धारित समय से प्राप्त करना सुनिश्चित करें। अपर मुख्य सचिव द्वारा प्रवर्तन कार्य के सम्बन्ध में जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश में अवैध शराब के निर्माण एवं बिक्री के मशहूर अड्डों पर कुल 64,753 छापेमारी कर 7,550 अभियोग पकड़े गये. जिसमें 1,88,017 ली. अवैध शराब बरामद की गयी। अवैध मदिरा के कारोबार में संलिप्त 2,627 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया तथा 37 वाहन जब्त किये गये।

 

Check Also

कड़क प्रशासक एवं जनप्रिय अफसर के रूप में आज भी जाने जाते हैं, स्व. कैलाश नारायण पाण्डेय- आनंद उपाध्याय

लखनऊ,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)। सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी स्वर्गीय कैलाश नारायण पांडे की पुण्य तिथि के अवसर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *