Breaking News

महेन्द्र मौर्या हत्याकांड का एक और आरोपी गिरफ्तार

लखनऊ। पिछले तकरीबन चार माह से फरार चल रहे हत्या के मामले में वांछित एक अभियुक्त को ठाकुरगंज पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। आपको बता दें कि इसी साल 25 जुलाई को महेन्द्र मौर्या उर्फ पुष्कर मौर्या की हत्या थाना क्षेत्र के अंर्तगत कर दी गई थी। इसमें पुलिस की तफ्तीश में कुछ लोगों के नाम सामने आए थे। इनमें से एक गिरफ्त में आया आरोपी भी है। पुलिस के अनुसार गिरफ्त में आया आरोपी भी महेंद्र मौर्या की हत्या में शामिल था। पुलिस के अनुसार दबोचा गए अभियुक्त का नाम दिनेश सिंह ठाकुर पुत्र बाबू सिंह है। जो मूल रूप से उन्नाव का रहने वाला है। फिलहाल आरोपी लखनऊ में बुद्धेश्वर चौराहे के पास रह रहा था। पिछले चार महीने से पुलिस इसको दबोचने की कोशिश कर रही थी मगर आज मुखबिर की सूचना के आधार पर पुलिस ने दिनेश को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की।
आपको बताते चलें कि कपड़ा व्यापारी महेंद्र मौर्या उर्फ पुष्कर मौर्या की हत्या मृतक की पत्नी के मामा संजय मौर्या ने अपने पांच साथियों के साथ मिलकर की थी। बीते दिनों ठाकुरगंज पुलिस ने महेंद्र हत्याकांड का खुलासा कर घैला पुल से दो हत्यारोपियों को दबोच लिया था। सनद रहे कि बीती 25 जुलाई 2022 की रात करीब 9,30 बजे काकोरी क्षेत्र के ग्राम भूहर निवासी कपड़ा व्यापारी महेंद्र मौर्या उर्फ पुष्कर मौर्या की असलहों से लैस बदमाशों ने उस समय गोली मारकर हत्या की थी जब वे दुकान बंद कर कार से घर जा रहे थे। यह सनसनीखेज वारदात पुलिस के लिए मानों किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं थी। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इस मामले गहनता से जांच पड़ताल शुरू की तो पता चला कि महेन्द्र की जान किसी गैर नहीं बल्कि उसकी पत्नी के रिश्ते में मामा संजय मौर्या ने अपनी भांजी यानी मृतक की पत्नी से शादी करने के लिए लिया है।

इतना सुबूत मिलते ही एसीपी चौक आईपी सिंह के नेतृत्व में गठित पुलिस की टीमें सक्रिय हुई और घटना में शामिल दो हत्यारोपियों मलिहाबाद क्षेत्र के चिहुंटा गांव निवासी सतीश गौतम उर्फ अनुज गौतम व काकोरी क्षेत्र के सैफलपुर गांव निवासी मुकेश रावत को सर्विलांस की मदद से इंस्पेक्टर ठाकुरगंज हरिशंकर चंद की टीम ने घैला पुल के पास से गिरफ्तार कर घटना में इस्तेमाल एक कार व मोटरसाइकिल बरामद कर लिया है।
तत्कालीन इंस्पेक्टर ठाकुरगंज के मुताबिक पकड़े गए दोनों आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि संजय मौर्या महेंद्र की पत्नी से शादी करना चाहता था जो रिश्ते में भांजी लगती है। बताया जा रहा है संजय मृतक की पत्नी को चाहता था लेकिन शादी महेंद्र से हो गई थी। इन्हीं बातों को लेकर संजय महेंद्र की जान लेने के लिए योजना बनाते हुए अपने साथी सतीश गौतम, मुकेश, पारा क्षेत्र सलेमपुर पचौरा निवासी ज्ञान सिंह उर्फ ज्ञानी, पारा निवासी दिनेश सिंह व दुबग्गा निवासी शनि कश्यप के साथ मिलकर बीती 25 जुलाई की रात गोली मारकर हत्या कर दी थी

 

 

Check Also

दुग्ध संघों के सुदृढ़ीकरण के लिए 13.33 करोड़ रूपये जारी

लखनऊ,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)। उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश में डेयरी विकास के लिए दुग्ध संघों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *