Breaking News

अब सस्ती हुई बिजली

Getting your Trinity Audio player ready...

नई दिल्ली.उत्तर प्रदेश राज्य की सरकार ने हाल ही में 100 दिन पूरे करने का जश्न मनाया था. उसमें विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया गया था कि आम आदमी को कैसे राहत मिले इस पर सभी विभाग के अधिकारियों को काम करना है. इसका पहला सफल परिणाम आ चुका है. योगी सरकार ने घरेलू बिजली की दरें कम करने का फैसला लिया है. जिससे प्रदेश के लगभग 2.9 करोड़ घरेलू उपभोक्ताओं को लाभ मिलने वाला है. यही नहीं सरकार ने शहरी उपभोक्ताओं के 7 रुपए प्रति यूनिट के स्लैब को भी खत्म कर दिया है. साथ ही ग्रामीण क्षेत्र में भी अधिकतम स्लैब को खत्म कर दिया है. आइये जानते हैं किसे होगा कितना फायदा.

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमीशन ने शनिवार को उत्तर प्रदेश में बिजली की नई दरों की घोषणा की. लेकिन अभी तक लोग समझ नहीं पा रहे थे कि आखिर माजरा क्या है. क्योंकि इससे पहले भी एक बार सरकार बिजली दरों में कटौति की घोषणा कर चुकी है. यूपीईआरसी ने बताया कि प्रदेश सरकार ने वित्त वर्ष 2022-23 के लिए बिजली की दरों को नहीं बढ़ाने का फैसला किया है, इसका फायदा प्रदेश के कुल 3.3 करोड़ बिजली उपभोक्ताओं को मिलेगा. यह लगातार चौथा वर्ष है जब उत्तर प्रदेश में बिजली की दरों में कोई इजाफा नहीं किया गया है.
यूपीईआरसी की ओर से जारी की गई दरों के मुताबिक, शहरी क्षेत्रों में शून्य से 100 यूनिट तक बिजली खर्च करने वाले उपभोक्ताओं को 5.5 रुपये प्रति यूनिट, 101 से 150 यूनिट तक खर्च करने वालों को 5.5 रुपये प्रति यूनिट, 151 से 300 यूनिट तक खर्च करने वालों को 6 रुपये प्रति यूनिट और 300 यूनिट से अधिक खर्च करने वालों को 6.5 रुपये खर्च करने होंगे. वहीं, 500 यूनिट से अधिक के स्लैब को प्रदेश सरकार ने खत्म कर दिया है. इस स्लैब में आने वाले उपभोक्ताओं को पहले 7 रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से बिल का भुगतान करना होता था. बता दें, बीपीएल परिवारों को 100 यूनिट तक खर्च करने पर 3 रुपये प्रति यूनिट की दर से भुगतान करना होगा.
आपको बता दें कि शून्य से 100 यूनिट तक खर्च करने वाले उपभोक्ताओं को 3.35 रुपये प्रति यूनिट, 100 से 150 यूनिट तक खर्च करने वाले उपभोक्ताओं को 3.85 रुपये प्रति यूनिट, 151 से 300 यूनिट तक खर्च करने वाले उपभोक्ताओं को 5 रुपये प्रति यूनिट, 300 से अधिक यूनिट खर्च करने वाले उपभोक्ताओं को 5.5 रुपये प्रति यूनिट की दर से भुगतान करना होगा. सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों के लिए भी 500 यूनिट से अधिक के सिले को खत्म कर दिया है. इसका मतलब यह है कि 500 यूनिट से अधिक का बिल आने पर लोगों को 6 रुपये प्रति यूनिट की जगह 5.5 रुपये प्रति यूनिट से हिसाब से ही भुगतान करना होगा.

Check Also

रैली निकालकर दिया मतदाता जागरूकता का संदेश

Getting your Trinity Audio player ready... लखनऊ/उन्नाव,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)ः केंद्रीय संचार ब्यूरो, सूचना एवं प्रसारण …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *