Breaking News

इस वायरस से निपटने के लिए मुख्यमंत्री ने दिये अधिकारियों को मिशन मोड पर काम करने के निर्देश

Getting your Trinity Audio player ready...

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लम्पी वायरस के खतरे को देखते हुए मिशन मोड में काम करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने इसके लिए व्यापक टीकाकरण अभियान चलाने की बात कही है। इसके अलावा उन्होंने अंतरराज्यीय पशु परिवहन पर प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को लोकभवन में एक उच्च स्तरीय बैठक में कोविड संक्रमण, लम्पी वायरस की रोकथाम और महिला एवं बाल अपराधों की समीक्षा कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में गायों पर लम्पी वायरस का दुष्प्रभाव देखा गया है। इस संक्रमण से कई राज्यों में बड़े पैमाने पर पशुधन का नुकसान हुआ है। राज्य में इसके प्रसार को रोकने के लिए हमें मिशन मोड में काम करना होगा। राज्य में पशु मेलों का आयोजन स्थिति सामान्य होने तक स्थगित किया जाए। अंतरराज्यीय पशु परिवहन पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए। किसानों को संक्रमण के लक्षण और उपचार की पूरी जानकारी दी जाए। गौशालाओं में अनावश्यक लोगों के प्रवेश पर रोक लगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि लम्पी वायरस से बचाव के लिए पशुओं के टीकाकरण के लिए विशेष अभियान चलाने की जरूरत है। वैक्सीन की उपलब्धता के लिए भारत सरकार की ओर से भी सहयोग मिलेगा। यह मक्खी और मच्छर से फैलने वाला वायरस है, ऐसे में ग्रामीण विकास, शहरी विकास और पशुपालन विभाग के समन्वय से गांवों और शहरों में विशेष स्वच्छता अभियान चलाया जाना चाहिए। संक्रमित पशु की मृत्यु होने की स्थिति में पूर्ण चिकित्सा प्रोटोकॉल के साथ अंतिम कार्रवाई की जानी चाहिए। किसी भी सूरत में संक्रमण नहीं फैलना चाहिए।

कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण बना

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि ट्रेस, टेस्ट और इलाज और टीकाकरण की रणनीति के सफल क्रियान्वयन से उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण बना हुआ है। कोविड संक्रमण से बचाव के लिए टीकाकरण के टीके की अमृत खुराक (बूस्टर/एहतियाती खुराक) दी जा रही है। साप्ताहिक व्यापक बूस्टर डोज अभियान चलाया जा रहा है। पिछले रविवार को 19 लाख से अधिक लोगों ने बूस्टर डोज का लाभ उठाया। अब तक 02 करोड़ से ज्यादा लोगों को बूस्टर डोज मिल चुकी है। इसे और गति की जरूरत है। कोविड की दैनिक सकारात्मकता दर में गिरावट आ रही है। दैनिक सकारात्मकता दर, जो एक सप्ताह पहले तक 1.6 प्रतिशत थी, पिछले दिन 0.8 प्रतिशत दर्ज की गई थी। वर्तमान में कुल सक्रिय मामलों की संख्या 4463 है। इनमें से 4101 लोगों को घर बैठे स्वास्थ्य लाभ मिल रहा है। पिछले 24 घंटे में 68 हजार से ज्यादा टेस्ट किए गए और 561 नए कोरोना मरीजों की पुष्टि हुई। इसी अवधि में 388 लोगों का इलाज किया गया और वे कोरोना मुक्त हो गए। उन्होंने कहा कि इस बारिश के मौसम में कई बीमारियों का प्रकोप बढ़ने की आशंका है. अस्पतालों में रोजाना ओपीडी के रिकॉर्ड बताते हैं कि वायरल और मौसमी बीमारियां बढ़ रही हैं। स्वास्थ्य विभाग और चिकित्सा शिक्षा विभाग सभी सरकारी अस्पतालों, सुपर स्पेशियलिटी अस्पतालों, मेडिकल कॉलेजों में दवाओं की उपलब्धता, डॉक्टरों की उपस्थिति, परीक्षण उपकरणों की कार्यप्रणाली की तुरंत जांच करें। डॉक्टर को ओपीडी में समय पर बैठना चाहिए। यदि कहीं से कोई शिकायत प्राप्त होती है तो तत्काल संज्ञान लेते हुए कार्रवाई की जाए।

Check Also

रैली निकालकर दिया मतदाता जागरूकता का संदेश

Getting your Trinity Audio player ready... लखनऊ/उन्नाव,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)ः केंद्रीय संचार ब्यूरो, सूचना एवं प्रसारण …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *