Breaking News

नहीं करना ईसाई धर्म का पालन, बने रहेंगे हिंदू,

Getting your Trinity Audio player ready...

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मेरठ में लोगों का जबरन धर्म परिवर्तन कराने का मामला अब तूल पकड़ चुका है. ऐसे में धर्मांतरण के मामले में पुलिस की कार्रवाई जारी है. वहीं, पुलिस ने पूछताछ के लिए 3 महिलाएं तितली, प्रेमा और रीना को हिरासत में लिया था. जहां इन तीनों महिलाओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज है. दरअसल, इन महिलाओं पर आरोप है कि लोगों को बहला-फुसलाकर ईसाई धर्म में जोड़ रहे थे. फिलहाल पुलिस ने पूछताछ के बाद इन तीनों महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही अन्य 6 लोगों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है.
दरअसल, ये मामला ब्रह्मपुरी थाना क्षेत्र स्थित माधवपुरम मलिन बस्ती में हुए 400 लोगो के धर्मांतरण का है. जहां पुलिस की कार्रवाई होते देख मलिन बस्ती की कुछ महिलाएं ब्रह्मपुरी थाने पहुंची. ऐसे में महिलाओं ने पुलिस के सामने बताया कि पैसों के लालच में आ कर ईसाई धर्म से जुड़ गए थे. हमसे गलती हो गई अब हमें अपने हिंदू धर्म में ही रहना है. हद तो तब हो गई जब उन्होंने इन सब को हिंदू देवी देवताओं की मूर्तियां बाहर करने के लिए मजबूर किया था.


कोरोना काल में जब पूरी दुनिया परेशानियों से जूझ रही थी. तब मेरठ के माधवपुरम स्थित मलिन बस्ती में कुछ लोग हिंदू लोगों को बहला-फुसलाकर और लालच देकर ईसाई धर्म अपनाने के लिए बाध्य कर रहे थे. मलिन बस्ती के लोगों को राशन और पैसे दिए जा रहे थे. इसी लालच में आकर गरीब लोग ईसाई धर्म से जुड़ गए थे और प्रार्थनाएं भी शुरू कर दी थी. जहां बस्ती के लोगों ने बताया कि कोरोना काल में खाने पीने के लिए कुछ भी नहीं हुआ करता था. तब दिल्ली से आकर कुछ लोग यहां खाना दिया करते थे. साथ में पैसे दिया करते थे. इसके अलावा मलिन बस्ती के लोगों ने बताया कि जो लोग राशन देने आते थे वह हिंदू धर्म के खिलाफ बोला करते थे. साथ ही कहा करते थे कि ईसाई धर्म अपना लो तो आपको फायदा मिलेगा. इतना ही नहीं हिंदू धर्म के खिलाफ बोलते हुए मनी बस्ती के लोगों को यह बताया जाता था कि ईसाई धर्म में जन्नत और हिंदू धर्म में नर्क मिलता है.
मलिन बस्ती के लोग जब अपने देवी देवताओं की पूजा करा करते थे तो उनको पूजा-अर्चना करने से रोका जाता था. यह बात यहां तक बढ़ गई थी जब दिवाली के मौके में यहां के लोग अपनी देवी देवताओं की पूजा कर रहे थे. तब उनके साथ दुव्र्यवहार किया गया और पूजा-अर्चना नहीं की करने दी। इससे परेशान होकर मलिन बस्ती के कुछ लोगों ने 9 लोगों के खिलाफ नामजद तहरीर दी. जिस पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज करा कर कार्यवाही शुरू कर दी. कार्यवाही करते हुए पुलिस ने 3 महिलाओं को हिरासत में लेकर पूछताछ की जिसके बाद उनको गिरफ्तार कर लिया गया. बता दें कि, दो अन्य लोग भी पुलिस की हिरासत में मौजूद है. बाकी लोगों की गिरफ्तारी के प्रयास पुलिस लगातार कर रही है.

Check Also

रैली निकालकर दिया मतदाता जागरूकता का संदेश

Getting your Trinity Audio player ready... लखनऊ/उन्नाव,(माॅडर्न ब्यूरोक्रेसी न्यूज)ः केंद्रीय संचार ब्यूरो, सूचना एवं प्रसारण …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *