Breaking News

इस वजह से बढ़ रहा है तेजी से वजन तो ये फूड्स करेंगे मदद

नई दिल्ली। थायराइड के होने पर किसी का वजन बढऩे लगता है, तो किसी का वेट लॉस होने लगता है. वजन के तेजी से बढऩे पर मोटापे की शिकायत होती है और ये हमारे शरीर को कई हेल्थ प्रॉब्लम्स का घर बनाती है. थायराइड जैसी बीमारी बच्चे से लेकर बूढ़े यानी किसी को भी हो सकती है. इसके होने पर वजन ही नहीं कब्ज, ड्राई स्किन, हाई कोलेस्ट्रॉल, जॉइंट पेन और डिप्रेशन जैसे कई लक्षण शरीर में नजर आने लगते हैं. मोटापे अपने साथ कई हेल्थ प्रॉब्लम्स को लेकर आता है, इसलिए इसे कंट्रोल करना बहुत जरूरी है.

आप थायराइड के कारण हो रहे वेट गेन को डाइट में बदलाव करके कंट्रोल कर सकते हैं. जानें आप किन फूड्स को डाइट का हिस्सा बनाकर वेट गेन से बच सकते हैं और ये थायराइड को कंट्रोल करने में भी बेनिफिशियल माने जाते हैं.

नट्स और सीड्स

ये दोनों ऐसे फूड्स हैं, जिन्हें जिंक जैसे न्यूट्रिएंट्स का बेस्ट सोर्स माना जाता है. चिया और कद्दू के बीजों में जिंक भरपूर मात्रा में होता है. आप चिया सीड्स को रात में भिगोकर रख दें और सुबह इसे दही में मिलाकर इसका सेवन कर सकते हैं. इससे आपका वेट लॉस होगा, साथ ही आप एक हेल्दी ब्रेकफास्ट के रूटीन को भी फॉलो कर सकेंगे.

बीन्स

प्रोटीन रिच फूड भी वेट लॉस और थायराइड को कंट्रोल करने में अच्छे माने जाते हैं. इससे मेटाबॉलिज्म में सुधार आता है और अनहेल्दी तरीके से आपका वजन भी नहीं बढ़ता. इसके लिए आप राजमा जैसे बीन्स या दालों का सेवन कर सकते हैं. मूंग दाल का चीला स्वादिष्ट होने के साथ-साथ टेस्टी भी होता है.

अंडे

सेलेनियम को वेट लॉस के लिए कारगर माना जाता है और शरीर में इसकी पूर्ति के लिए आप अंडे खा सकते हैं. जो थायराइड पेशेंट वेट लॉस करना चाहते हैं, वे प्रोटीन से युक्त अंडों को अपनी डाइट का हिस्सा बना सकते हैं. एग्स का एक बेनिफिट ये भी है कि ये आपको कई बीमारियों से बचाकर रखते हैं.

हाइड्रेट रहे

अगर आप थायराइड की वजह से वजन बढऩे से परेशान हैं, तो आपको अपने रूटीन में ज्यादा से ज्यादा हाइड्रेट रहने की कोशिश करनी चाहिए. इसके लिए पानी एक बेस्ट ऑप्शन साबित हो सकता है, लेकिन नारियल पानी, नींबू पानी या अन्य बेवरेज भी आपके लिए बेनिफिशियल साबित हो सकते हैं. इन हेल्दी ड्रिंक्स से शरीर से टॉक्सिन्स को बाहर निकालने में मदद मिलती है.

( इस लेख में दी गई जानकारियां सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. मॉडर्न ब्यरोक्रेसी इनकी पुष्टि नहीं करता है. किसी विशेषज्ञ से सलाह लेने के बाद ही इस पर अमल करें.)

Check Also

सीडीएससीओ की जांच में 48 दवाएं गुणवत्ता परीक्षण में विफल

नई दिल्ली। देश की शीर्ष स्वास्थ्य नियामक की ओर से जारी नवीनतम सुरक्षा चेतावनी में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *